वडोदरा शहर में चार इंच बारिश, पानी जमा होने से परेशानी

शुक्रवार रात से शनिवार सवेरे तक

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 11 Sep 2021, 10:44 PM IST

वडोदरा. शहर में शुक्रवार रात से शनिवार सवेरे तक चार इंच बारिश होने के कारण जगह-जगह पानी जमा होने से जनजीवन ठप हो गया।
शहर के विभिन्न क्षेत्रों में शुक्रवार को गणेश चतुर्थी पर गणपति की मूर्तिंयों की स्थापना के साथ ही शाम को शुरू हुई बारिश करीब डेढ़ घंटे तक जमी। इस दौरान चार इंच बारिश से शहर के निचले क्षेत्रों और मार्गों पर पानी जमा हो गया।
जगह-जगह यातायात जाम होने के दृश्य दिखाई दिए और वाहन चालकों को वैकल्पिक मार्गों का चयन करना पड़ा। बड़ी संख्या में वाहन बारिश के पानी में फंसकर बंद होने के कारण चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। अनेक क्षेत्रों में घरों व दुकानों में घुटने तक पानी जमा होने से जनजीवन ठप हो गया।
मकानों व दुकानों में रखे सामान को नुकसान हुआ। अनेक मकानों में पहुंचे पानी को दरवाजे बाहर निकालते लोग भी दिखाई दिए। विशेषतौर पर शहर के रावपुरा, चार दरवाजा, गेंडा सर्कल, कारेली बाग, वाघोडिया रोड, संगम चार रास्ता आदि क्षेत्रों में ऐसे दृश्य दिखाई दिए। अनेक स्थानों पर वृक्ष धराशायी हो गए, हालांकि जनहानि नहीं हुई।

मानसून के दौरान जिले में 32 इंच बरसात

शनिवार सवेरे तक पिछले 24 घंटों में डभोई में 21 मिलीमीटर, डेसर में 50, वडोदरा में 100, पादरा में 10, वाघोडिया में 9, सावली में 14, शिनोर में 7 मिलीमीटर सहित जिले में मानसून के दौरान अब तक 32 इंच बरसात हुई।

पौराणिक काशी विश्वनाथ मंदिर में पंप से निकाला बारिश का पानी

शहर में बारिश के कारण राजमहल रोड पर पौराणिक काशी विश्वनाथ मंदिर में पानी भर गया। मंदिर ट्रस्ट की ओर से शनिवार सवेरे से पंप लगाकर बारिश का पानी निकाला गया।
मंदिर के समीप स्थित तालाब छलकने के कारण मंदिर में पानी पहुंच गया। शहर में चार इंच बारिश के कारण भी मंदिर परिसर में पानी भर गया। मंदिर के समीप स्थित लाल बाग ब्रिज के दोनों छोर पर पानी जमा होने के कारण वाहन चालक फंस गए। अनेक वाहन चालकों को लगातार दूसरे दिन शनिवार को भी पानी जमा होने के कारण आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ा।


गांवोंं में रास्ते बंद

अटलादरा गांव में बारिश का पानी जमा होने के कारण गांव का रास्ता बंद होने से लोगों को पानी से आवागमन करना पड़ा। नाले बंद होने के कारण अटलादरा क्षेत्र का तालाब छलकने से रास्ते पर पानी जमा हो गया। क्षेत्र की कुछ सोसायटियों व मकानों में भी पानी पहुंच गया। इस कारण लोगों ने विरोध जताते हुए कहा कि पूर्व में भारी बारिश के बावजूद पानी जमा नहीं होता था, अब कम बारिश में भी पानी जमा होने व मकानों में पानी पहुंचने से आर्थिक नुकसान हो रहा है।
इसी प्रकार शहर के समीप हरिपुरा व सुलतानपुर गांवों में जांबुवा नदी का पानी जमा हो गया। इस कारण हरिपुरा-सुलतानपुर-केलनपुर मार्ग पर मुख्य मार्ग पर रास्ता बंद हो गया। केलनपुर में पानी की टंकी के समीप बंधे मवेशियों को छोडऩे गया एक पशुपालक शनिवार सवेरे खेत में फंस गया। उप सरपंच की सूचना पर दमकल टीम ने नाव से पशुपालक को निकाला।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned