Gandhinagar : लाजवाब रेलवे स्टेशन है गांधीनगर कैपिटल...

Gandhinagar station, prime minister, inaugration, railway board chairmen: रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने की हौसलाअफजाई, संभवत: 1६ जुलाई को प्रधानमंत्री करेंगे पुनर्निर्मित रेलवे स्टेशन व होटल का उद्घाटन

By: Pushpendra Rajput

Published: 12 Jul 2021, 10:30 PM IST

गांधीनगर. लाजवाब रेलवे स्टेशन है गांधीनगर कैपिटल स्टेशन। ट्रैक पर एक भी पीलर नहीं है। रेलवे पटरियों के बीच बना करीब 3१८ कमरों का पांच सितारा आलीशान होटल। कुछ ऐसा ही आभास हुआ रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा को। शर्मा रविवार शाम पुनर्निर्मित गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन जायजा लेने यहां पहुंचे थे। वे करीब साढ़े छह बजे गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन पहुंचे थे और करीब दस बजे वे दिल्ली के लिए रवाना हो गए। करीब साढ़े तीन से चार घंटे में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट्स में से एक गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन के अलावा रेलवे स्टेशन पर ही बने आलीशान पांच सितारा होटल की तैयारियों का निरीक्षण किया।

उन्होंने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को कई जरूरी निर्देश भी दिए। इस मौके पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन शर्मा के साथ पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल, अहमदाबाद के मंडल रेल प्रबंधक दीपक झा के अलावा रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

रेलवे स्टेशन बनकर तैयार अब उद्घाटन का इंतजार

गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन पांच सितारा होटल के साथ पुन: बनकर तैयार है अब सिर्फ उद्घाटन इंतजार है। संभवत: 1६ जुलाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसका उद्घाटन कर सकते हैं। होटल को रोशनी से सजा दिया गया है। रेलवे स्टेशन को आकर्षक लुक दिया गया है, जिसमें देशभर के पहले 'सी Ó प्लेन, बुलेट ट्रेन, दुनिया की सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम, गुजरात की कढ़ाई की झलक नजर आ रही है।

वर्ष 2017 में स्टेशन का पुनर्निविकास हुआ था प्रारंभ

गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन पर पांच सितारा होटल बनाने का काम वर्ष 2017 में प्रारंभ हुआ था। करीब साढ़े तीन से चार वर्ष में यह पुनर्विकसित हो चुका है। यह स्टेशन इडियन रेलवे स्टेशन डवलपमेन्ट कॉर्पोरेशन (आईआरएसडीसी)और राज्य सरकार के सहयोग से बनाया जा रहा है, जो भूतल से 23 मीटर ऊंचाई पर बना है। होटल बिल्डिंग की ऊंचाई करीब 77 मीटर है। प्रोजेक्ट में होटल के साथ स्टेशन को रेलवे स्टेशन को भी पुनर्विकसित किया गया है, जहां शोपिंग मॉल और रेस्टोरेन्ट समेत सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। वहीं सोलर पैनल लगाए जा रहे हैं,जहां ज्यादातर बिजली आपूर्ति सौरऊर्जा से होगी।

प्लेटफार्म बदलने को बनाया भूगर्भीय रास्ता
इस रेलवे स्टेशन पर तीन प्लेटफार्म हैं। जहां आनेवाले यात्रियों को एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर जाने के लिए भूगर्भीय रास्ता बनाया गया है। कोई भी फुटऑवरब्रिज नहीं है। वहीं पांच सितारा होटल में आने वाले यात्रियों के लिए अलग से रास्ता बनाया गया है। वे महात्मा मंदिर मार्ग से अंडरब्रिज से होते हुए सीधे ही ऊपर ब्रिज के जरिए सीधे ही होटल पर पहुंच सकेंगे। अंडरब्रिज में महात्मा गांधी की जीवनी को उकेरा गया, जहां महात्मा गांधी के बचपन से लेकर स्वतंत्रता आंदोलन के हर यादगार क्षण नजर आएंगे।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned