राजुला रोड-राजुला सिटी खंड बना ग्रीन कोरिडोर

‘स्वच्छ रेल - स्वच्छ भारत’ की तरफ एक और कदम बढ़ाते हुए पश्चिम रेलवे ने ढोला जं.-महुवा (ढोला सहित) के 126.5 किमी खंड तथा राजुला रोड-राजुला सिटी...

By: मुकेश शर्मा

Published: 26 Jan 2018, 07:55 PM IST

अहमदाबाद।‘स्वच्छ रेल - स्वच्छ भारत’ की तरफ एक और कदम बढ़ाते हुए पश्चिम रेलवे ने ढोला जं.-महुवा (ढोला सहित) के 126.5 किमी खंड तथा राजुला रोड-राजुला सिटी के 7.5 किमी खंड को शुक्रवार से ग्रीन कोरिडोर के तौर पर समर्पित कर अपनी उपलब्धियों में एक नया अध्याय जोड़ा है। इन खंडों से गुजऱने वाली सभी ट्रेनों में बायो-टॉयलेट उपलब्ध कराए जाएंगे, ताकि ट्रैक पर मानवीय मल-मूत्र की शून्य निकासी सुनिश्चित की जा सकेगी।

पश्चिम रेलवे ने शुरुआत में नवम्बर, 2016 में पोरबंदर-वांसजालिया खंड (33.7 किमी) तथा ओखा-कानालूस खंड (141 किमी) को कोचों से मानवीय मल-मूत्र की शून्य निकासी सुनिश्चित कर ग्रीन कोरिडोर के तौर पर समर्पित किया था। ये दो खंड पश्चिम रेलवे पर पहली तथा भारतीय रेल पर दूसरी ग्रीन कोरिडोर थे। अब इस पहल के द्वारा पश्चिम रेलवे ने स्वच्छ भारत, हरित भारत एवं स्वच्छ भारत की दिशा में पहल की है।

ये होंगे फायदे :

- ग्रीन कोरिडोर स्वच्छ रेल - स्वच्छ भारत पहल के अंतर्गत स्वच्छ वातावरण के लिए प्रतिबद्धता है।
- ग्रीन कोरिडोर की ट्रेनों में बायो-टॉयलेट लगे होंगे, जो ट्रैक पर मानवीय मूल-मूत्र की शून्य निकासी सुनिश्चित करेंगे, जिससे स्वच्छता एवं स्वास्थ्यकर वातावरण में वृद्धि होगी।
- ग्रीन कोरिडोर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर शुरू ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की संकल्पना में अपना महत्वपूर्ण योगदान देगा।
- बायो टॉयलेट बायो डाइजेस्टर टैंक में मल-मूत्र एकत्र करती है, जिसमें एनॉबिक बैक्टीरिया होते हैं। इसे ट्रेन कोच के नीचे कम स्थान में लगाया जाता है।
- बैक्टीरिया मानवीय मल-मूत्र को पानी तथा कम मात्रा में मिथेन जैसी गैस के रूप में परिवर्तित कर देते हैं।
- ढोला जं.-महुवा तथा राजुला रोड-राजुला सिटी खंडों से कुल 6 ट्रेनें गुजऱती हैं, जिनमें 66 डिब्बे होते हैं।

- बायो टॉयलेट बायो डाइजेस्टर टैंक में मल-मूत्र एकत्र करती है, जिसमें एनॉबिक बैक्टीरिया होते हैं। इसे ट्रेन कोच के नीचे कम स्थान में लगाया जाता है।
- बैक्टीरिया मानवीय मल-मूत्र को पानी तथा कम मात्रा में मिथेन जैसी गैस के रूप में परिवर्तित कर देते हैं।

 

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned