शिक्षामंत्री ने किया जीटीयू अटल इन्क्यूबेशन सेन्टर का लोकार्पण

GTU, education minister, atal incubation center, startup, students; स्टार्टअप क्षेत्र में गुजरात को देशभर में अव्वल बनाने में जीटीयू का अहम योगदान: चुड़ास्मा

By: Pushpendra Rajput

Updated: 03 Jul 2021, 09:04 PM IST

गांधीनगर, गुजरात टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी (जीटीयू) स्टार्टअप एवं इनोवेशन को बढ़ावा देने में हमेशा कार्यरत है। इस प्रवृत्ति को गति देने के लिए शनिवार को जीटीयू में नवनिर्मित अटल इन्क्यूबेशन सेन्टर (एआईसी) राज्य के शिक्षामंत्री भूपेन्द्रसिंह चूड़ास्मा ने लोकार्पण किया। साथ ही अंतरराष्ट्रीयस्तर पर जीटीयू एआईसी ने आरटी-पीसीआर टेस्ट को पहचान दिलाई। यूएसए की एजीलैण्ट तकनीक द्वारा समाज सेवा के लिए जीटीयू को सौगात पर दी गई आरटी-पीसीआर मशीन का भी उन्होंने शुभारंभ किया।

इस मौके पर विशेष अतिथि और डिपार्टमेन्ट ऑफ टेक्निकल एज्युकेशन के मुख्य सचिव एस.जे. हैदर, जीटीयू के कुलपति, एवं कुलसचिव डॉ. के.एन. खेर भी उपस्थित थे।

इस मौके पर शिक्षामंत्री चूड़ास्मा ने कहा कि गुजरात सरकार स्टार्टअप और इनोवेशन को बढ़ावा ेदेने के लिए कई अहम कदम उठाए हैं। जीटीयू की ओर से विकसित स्टूडण्ट स्टार्टअप सिस्टम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सराहा है। स्टार्टअप क्षेत्र में गुजरात देशभर में अव्वल हैं, जिसमें जीटीयू का अहम योगदान है। जीटीयू के स्टार्टअप आत्मनिर्भर भारत को और गति मिलेगी। नीति आयोग की ओर से बायो टेक्नोलॉजी, हेल्थकेयर और मेडिकल डिवाइस क्षेत्र में कार्यरत इनोवेटिव की मदद के लिए 10 करोड़ का योगदान दिया गया है। जीटीयू अटल इन्क्यूबेशन सेन्टर में 25 से ज्यादा बायोटेक, बायो मेडिकल डिवाइस उपलब्ध हैं।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned