व्यावसायिक इमारतों के सामने बेतरतीब पार्किंग से ट्रैफिक की समस्या

-एस्टेट विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को कल उपस्थित रहने के निर्देश

-गुजरात उच्च न्यायालय की टिप्पणी....

By: Uday Kumar Patel

Published: 25 Apr 2018, 06:17 PM IST

 

अहमदाबाद. मानसून के दौरान खस्ताहाल सडक़ों, शहर में जगह-जगह ट्रैफिक की समस्या और बेतरतीब पार्किंग के मुद्दे पर गुजरात उच्च न्यायालय ने गुरुवार को अहमदाबाद महानगरपालिका के एस्टेट विभाग के जिममेदार अधिकारियों को गुरुवार को उपस्थित रहने के निर्देश दिए हैं।
न्यायाधीश एम. आर. शाह व न्यायाधीश ए. वाई. कोगजे की खंडपीठ ने टिप्पणी की कि व्यावसायिक इमारतों के सामने अवैध व बेतरतीब पार्किंग को लेकर ट्र्रैफिक की समस्या पैदा होती है। ऐसे में मॉल, अस्पताल, क्लब और रेस्टोरेंट के सामने होने वाले पार्किंग के मुद्दे पर प्रशासन क्या कार्रवाई करना चाहती है? ऐसे व्यावसायिक इमारतों का निर्माण करने वाले प्रबंधन को यह क्यों नहीं कहा जाता कि पार्किंग की भीतर व्यवस्था करें नहीं तो बिल्डिंग यूज (बीयू) परमिशन नहीं दी जाएगी।
पान के गल्ले व खाने-पीने की लारियों को देखकर लोग वाहन सडक़ पर पार्क कर देते हैं जिससे ट्रैफिक की समस्या होती है। इस मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रेल को होगी।
याचिकाकर्ता की ओर से दलील दी गई कि शहर के एस. जी. हाईवे पर पकवान चौराहे के पास इमारत में ही पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। इस कारण एस. जी.हाईवे पर ट्रैफिक की समस्या होती है। गांधीनगर शहरी विकास प्राधिकरण (गुडा) की ओर से उन्हें मिली रकम का उचित ढंग से उपयोग नहीं किया जाता।
खंडपीठ ने यह भी मौखिक टिप्पणी की कि जहां तक सडक़ों पर गैरकानूनी अतिक्रमण को नहीं हटाया जाए तब तक कुछ भी करना मुश्किल है।
गत वर्ष मानूसन के दौरान अहमदाबाद में सडक़ों की स्थिति खस्ताहाल स्थिति को लेकर मुश्ताक हुसैन मेहंदी हुसैन कादरी की ओर से जनहित याचिका दायर की गई थी। इस मुद्दे पर कई बार खंडपीठ ने मनपा ने नाराजगी जताते हुए कई निर्देश दिए। इससे पहले उच्च न्यायालय ने कई बार अहमदाबाद में खस्ताहाल सडक़ों के रिसरफेङ्क्षसग की मंथर गति पर नाराजगी जताई। साथ ही पार्किंग और ट्रैफिक की समस्या के समाधान को लेकर बने संयुक्त टास्क फोर्स करने की सूचना भी दी। शाहर में स्थित अस्पतालों व मॉलों में बेहिसाब तरीके से पार्किंग किया जाता है। पार्किंग की समस्या के निराकरण के लिए उचित योजना बनाई जाए।


Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned