scriptGujarat, Ahmedabad, firecrackers, domestic demand, china firecrackers | आत्मनिर्भर भारत अभियान से घरेलू पटाखा व्यापारियों को मिला बल | Patrika News

आत्मनिर्भर भारत अभियान से घरेलू पटाखा व्यापारियों को मिला बल

Gujarat, Ahmedabad,Aatmnirbhar Bharat Abhiyan, firecrackers, domestic demand rise, china firecrackers ban, popup -चीन से पटाखों के आयात पर प्रतिबंध से बढ़ी मांग, बीते सालों से 30 फीसदी डिमांड ज्यादा, ग्रीन पटाखों की खरीदी को दे रहे तवज्जो

अहमदाबाद

Published: November 02, 2021 05:25:39 pm

नगेन्द्र सिंह

अहमदाबाद. केन्द्र सरकार की ओर से छेड़े गए आत्मनिर्भर भारत अभियान से घरेलू पटाखा व्यापारियों को बल मिला है। कोरोना महामारी के चलते बीते साल पूरी तरह से ठप रहा पटाखा उद्यम-व्यापार इस साल राज्य में संक्रमण के हालात काबू में होने के चलते पटरी पर लौटा है।
चीन से आयात किए जाने वाले पटाखों की बिक्री पर रोक लगने के चलते भी घरेलू पटाखों की मांग बढ़ी है। इसके अलावा सुप्रीमकोर्ट के कड़े रवैये और पटाखे चलाने से होने वाले प्रदूषण के चलते लोगों में बढ़ रही जागरुकता का असर है कि लोग अब ग्रीन पटाखों की खरीदी को तवज्जो दे रहे हैं।
दीपावली के मद्देनजर शहर के दिल्ली दरवाजा, रायपुर पटाखा बाजार सहित अलग अलग इलाकों में पटाखों के स्टॉल सज गए हैं। खरीददारी भी शुरू हो गई है। हालांकि दिवाली के अंतिम दिनों में खरीदी में तेजी के आसार हैं। रविवार को खरीददारों की अच्छी भीड़ पटाखा बाजारों में देखने को मिली थी।
आत्मनिर्भर भारत अभियान से घरेलू पटाखा व्यापारियों को मिला बल
आत्मनिर्भर भारत अभियान से घरेलू पटाखा व्यापारियों को मिला बल
कीमतों में 35 फीसदी का उछाल
बढ़ती महंगाई का असर पटाखों पर भी पड़ा है। बीते साल की तुलना में पटाखों की कीमतों में 35 फीसदी का उछाल हुआ है। पटाखा उद्यमी एवं व्यापारियों का कहना है कि कच्चे माल की कीमतों में हुई वृद्धि के चलते पटाखों की कीमतें बढ़ी हैं। वे बैंगलूरु, चेन्नई, अलवर, पंजाब व हरियाणा से पटाखों को बनाने के लिए कच्चा माल मंगवाते हैं। उसमें इजाफा होने से दाम में वृद्धि हुई है।
डिमांड में 30 फीसदी का इजाफा
कोरोना महामारी के चलते बीते साल पटाखों का उत्पादन और व्यापार पूरी तरह से ठप था। कर्ज लेकर गुजारा किया। लेकिन इस साल कोरोना का संक्रमण गुजरात सहित देश के ज्यादातर राज्यों में काबू में है। जिससे पटाखों की डिमांड में 30 फीसदी का इजाफा हुआ है। न सिर्फ गुजरात बल्कि अन्य राज्यों से भी ऑर्डर अच्छे मिले हैं, जिससे उम्मीद है कि बीते साल लिया कर्ज चुकाया जा सकेगा। गुजरात ही नहीं बल्कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और कर्नाटक तक से पटाखों की डिमांड आई है।
-नदीम बागवान, पटाखा निर्माता, वांच गांव, अहमदाबाद

दाम बढऩे से खरीदी में आई कमी
कोरोना महामारी से लोगों की आर्थिक स्थिति बिगड़ी है। ऐसे में पटाखों की कीमतें बीते साल की तुलना में बढ़ी हैं। पहले जो पटाखे 50 रुपए में मिल रहे थे वे आज 70 रुपए के हो गए हैं। ऐसे में लोग पहले डेढ़ दो हजार के पटाखे खरीद कर ले जाते थे अब वे हजार रुपए से डेढ़ हजार की ही खरीदी कर रहे हैं।
-मो.असलम, पटाखा व्यापारी, दिल्ली दरवाजा
पहले सालों जितनी बिक्री नहीं
कोरोना महामारी से पहले जितनी पटाखों की बिक्री होती थी। इस साल उतनी बिक्री नहीं है। हालांकि बीते साल कोरोना के चलते बाजार बंद रहे उसकी तुलना में इस साल बिक्री है। दिवाली को अभी तीन दिन हैं, ऐसे में उम्मीद है कि अंतिम दिनों में अच्छी बिक्री होगी।
-उस्मान गनी, पटाखा व्यापारी, दिल्ली दरवाजा

पॉपअप, बीड़ी बम, चिटपुट की बिक्री ज्यादा
लोग अब ग्रीन पटाखों की खरीदी ज्यादा करते हैं। विशेषकर बच्चों के लिए बनाए गए पटाखों, जिसमें पॉपअप (जमीन पर मारने से फूटते हैं), बीड़ी बम (मासिच की तरह जलाकर फेंकने पर फटते हैं), चिटपुट (जलने पर आवाज होती है धुआं नहीं) की मांग ज्यादा है। इसके अलावा ड्रॉन , बटरफ्लाई पटाखों की मांग है। मिर्ची बम, कोठी, चकरड़ी, तारामंडल की डिमांड है। लेकिन बीते सालों से इसमें कमी आई है।
सिर्फ दो घंटे ही चला सकेंगे पटाखे
सुप्रीमकोर्ट के निर्देशों के मद्देनजर गुजरात सरकार ने दीपावली पर पटाखे चलाने से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए रात 8 बजे से 10 बजे तक दो घंटे ही पटाखे चलाने की मंजूरी दी है। हर साल दीपावली के दौरान पटाखे चलने से प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है। इसके अलावा ज्यादा आवाज करने वाले पटाखे, विदेशों से आयात किए जाने वाले पटाखों की बिक्री व पटाखों की लड़ी बेचने पर रोक है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.