scriptGujarat, Ahmedabad Police hospital, health check up camp | Gujarat: अहमदाबाद पुलिस अस्पताल में पुलिस कर्मियों व परिजनों की स्वास्थ्य जांच के लिए शिविर | Patrika News

Gujarat: अहमदाबाद पुलिस अस्पताल में पुलिस कर्मियों व परिजनों की स्वास्थ्य जांच के लिए शिविर

Gujarat, Ahmedabad Police hospital, health check up camp

अहमदाबाद

Published: November 19, 2021 10:03:50 pm

अहमदाबाद. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल ने घोषणा की है कि राज्य के पुलिस कर्मचारियों के साथ अब उनके परिजनों के स्वास्थ्य की भी जांच होगी। निरामय गुजरात अभियान के तहत प्रदेश में 30 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार राज्य के पुलिस कर्मचारियों एवं उनके परिवारों के सदस्यों की स्वास्थ्य जांच की जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री ने शहर के शाहीबाग स्थित गुजरात स्टेट पुलिस वेल्फेयर हॉस्पिटल (शाहीबाग) में मेगा जांच शिविर का उदघाटन किया।
इस मौके पर उन्होंने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य जांच के लिए गैर संक्रामक रोगों के लिए स्क्रीनिंग से उपचार तक का खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। कोरोना काल में पुलिस विभाग ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा सेना के जवान करते हैं जबकि घरों की सुरक्षा पुलिस करती है। ऐसे जवानों और उनके परिवारों की स्वास्थ्य की चिंता राज्य सरकार करती है। पुलिस कर्मियो और उनके परिवार की जांच शुक्रवार से शुरू की गई है।
राज्य में संक्रामक रोग की अपेक्षा गैर संक्रामक रोग जैसे रक्तचाप, मधुमेह, हार्ट अटैक, लकवा, मुंह - गर्भाशय तथा स्तन कैंसर और किडनी जैसे रोगों से अधिक लोगों की मृत्यु होती है। इन रोगों की स्क्रीनिंग के लिए गत 12 नवम्बर से राज्य भर में तीस वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों के स्वास्थ्य की जांच (निरामय गुजरात अभियान) की शुरुआत की गई है।
इस अवसर पर सांसद किरीट सोलंकी, राज्य स्वास्थ्य मंत्री निमिषाबेन सुथार, पुलिस आयुक्त संजय श्रीवास्तव, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अजय चौधरी, स्वास्थ्य आयुक्त एवं सचिव जयप्रकाश शिवहरे भी मौजूद रहे।

पुलिस अस्पतालों में फिजियोथेरेपी सेंटर की होगी व्यवस्था
Gujarat:  अहमदाबाद पुलिस अस्पताल में पुलिस कर्मियों व परिजनों की स्वास्थ्य जांच के लिए शिविर
Gujarat: अहमदाबाद पुलिस अस्पताल में पुलिस कर्मियों व परिजनों की स्वास्थ्य जांच के लिए शिविर
इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य में पुलिस विभाग के लिए छह अस्पताल हैं। पुलिस कर्मचारियों के सबसे बड़ी समस्या हड्डी संबंधित बीमारी की है। इसे ध्यान में रखकर इन सभी अस्पतालों में फिजियोथेरेपी सेंटर और चिकित्सकों की व्यवस्था भी की जाएगी। उन्होंने उन पुलिस कर्मिचारियों के काम को भी सराहा जिन्होंने ड्रग्स जैसे दूषण को रोकने के लिए काम किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

हार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैंधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजप्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टEye Donation- बेटी को जन्म दे, चल बसी मां, लेकिन जाते-जाते दो नेत्रहीनों को दे गई रोशनीयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM Modi, ग्लोबल सर्वे में बाइडेन और ट्रूडो जैसे दिग्गजों को पछाड़ाCorona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरदिल्ली में घटते कोरोना मामलों के बीच वीकेंड कर्फ्यू हटाने का फैसला, CM अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजा पत्र50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup: टीम इंडिया का पूरा शेड्यूल, जानें कब और किस टीम से होगा मुकाबलाUP Election 2022: राहलु और प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं पर फोकसइंडिया गेट पर लगेगी नेता जी की मूर्ति, पीएम मोदी ने ट्वीट की तस्वीरUP Election 2022: पूर्वांचल में कितना और क्या गुल खिलाएगा अखिलेश का ब्राह्मण कार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.