scriptgujarat assembly, lignite, lead, zinc, mineral , gujarat government | गुजरात में बढ़ाई जाएगी लिग्नाइट खनन की क्षमता | Patrika News

गुजरात में बढ़ाई जाएगी लिग्नाइट खनन की क्षमता

gujarat assembly, lignite, lead, zinc, mineral , gujarat government; अम्बाजी क्षेत्र में तांबा, शीशा व जस्ता की शोध

अहमदाबाद

Published: March 07, 2022 10:01:22 pm

गांधीनगर. गुजरात में लिग्नाइट खनन की क्षमता बढ़ाई जाएगी। इसके लिए गुजरात में छह और स्थानों पर लिग्नाइट का खनन किया जाएगा। गुजरात में लिग्नाइट का खनन गुजरात मिनरल डवलपमेन्ट कॉर्पोरेशन (जीएमडीसी) के जरिए किया जाता है। वहीं पर्यावरण मंत्रालय ने जीएमडीसी की सूरत स्थित तड़केश्वर लिग्नाइट खान में 135 मीटर की गहराई तक खदान की मंजूरी दी है।
गुजरात में बढ़ाई जाएगी लिग्नाइट खनन की क्षमता
गुजरात में बढ़ाई जाएगी लिग्नाइट खनन की क्षमता
गुजरात मिनरल डवलपमेंट कॉपोरेशन लिमिटेड (जीएमडीसी) भारत में अग्रणी खनन खिलाडिय़ों में से एक है। मतलब कि 85 फीसदी लिग्नाइट का खदान किया जाता है। कंपनी के पास मौजूदा समय में कच्छ, दक्षिण गुजरात और भावनगर क्षेत्र में पांच लिग्नाइट खदानें हैं। यह कथित तौर पर देश में लिग्नाइट का सबसे बड़ा व्यापारी विक्रेता है। इसके अलावा जीएमडीसी को छह और स्थानों पर खदान शुरू किया जाएगा, जिसमें पान्द्रो एक्सटेन्शन और भरकंदम में लिग्नाइट ब्लॉक्स आवंटित किए हैं। इसके अलावा भरूच के वालिया, दमकाई पडल, सूरत में धाला एवं कच्छ के लखपत में ब्लॉक्स आवंटित की गई हैं। शीघ्र ही यहां खनन प्रारंभ किया जाएगा। इसके जरिए यहां 500 मिलियन टन लिग्नाइट मिलनी की संभावना है। वहीं उत्तर गुजरात के अम्बाजी में भी मिनरल की खोज की है, जिसमें तांबा, शीशा और जस्ता मिलने की संभावना है।
जीएमडीसी के प्रबंध निदेशक रूपवंत सिंह कहा कितड़केश्वर में लिग्नाइट खदानें सूरत में रणनीतिक रूप से एक बड़े औद्योगिक क्षेत्र में हैं। तड़केश्वर खदानों से 0.68 मिलियन मीट्रिक टन लिग्नाइट का खनन किया है> राज्य और देश भर में लगातार बढ़ती मांग-आपूर्ति अंतर और ऊर्जा की आवश्यकता को पूरा करने में मदद मिलेगी।
रूपवंत सिंह के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 के लिए उत्पादन लक्ष्य 86.63 लाख मीट्रिक टन था जिसमें 65.64 लाख मीट्रिक टन उत्पादन हासिल कर लिया है। वर्ष 2021-22 के दौरान, भावनगर की खदानों में लिग्नाइट का उत्पादन 12.86 लाख मीट्रिक टन, जो वर्ष 2020-21 के 4.94 लाख मीट्रिक टन की तुलना में 7.92 लाख मीट्रिक अधिक है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinay Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाज्ञानवापी केसः बहस पूरी, 1991 का वर्शिप एक्ट लागू होगा या नहीं, कल होगा फैसला, जानें सुनवाई से जुड़ी हर बातबीजेपी नेता किरीट सोमैया की पत्नी ने शिवसेना के संजय राउत के खिलाफ दर्ज कराया 100 करोड़ का मानहानि का मुकदमालैंड होते ही झटके से रूक गया यात्री विमान, सांस थामे बैठे रहे यात्रीजम्मू और कश्मीर: आतंकियों के निशाने पर सुरक्षा बल, श्रीनगर में जारी किया गया रेड अलर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.