गुजरात एटीएस ने अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट का किया पर्दाफाश

गुजरात एटीएस ने अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट का किया पर्दाफाश

nagendra singh rathore | Publish: Aug, 12 2018 09:56:38 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

पाकिस्तान से चार माह पहले समुद्र के रास्ते लाई गई थी १०० किलो हेरोइन, पांच किलो हेरोइन के साथ दो गिरफ्तार

अहमदाबाद. गुजरात आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने देवभूमि द्वारका से पांच किलोग्राम हेरोइन के साथ एक युवक को गिरफ्तार कर अंतरराष्ट्रीय ड्रग रैकेट का पर्दाफाश किया है। जब्त की गई हेरोइन की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब १५ करोड़ रुपए बताई जा रही है।
आरोपी युवक की पूछताछ के आधार पर मांडवी से एक और आरोपी को पकड़ा है। आरोपी के पास से बरामद की गई हेरोइन सीमा पार पाकिस्तान से करीब चार महीने पहले लाई गई थी। अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा में १०० किलोग्राम हेरोइन की डिलिवरी ली गई। फिर उसे समुद्र के रास्ते मछली पकडऩे वाली नाव (ट्रेलरों) व जहाज में छिपाकर कच्छ जिले के मांडवी में लाया गया था। इसमें से ज्यादातर हेरोइन को उत्तर भारत के राज्यों में सप्लाई कर दिया गया।
गुजरात एटीएस सूत्रों के देवभूमि द्वारका जिले के सलाया के सोडसाला गांव से मछुआरे अजीज अब्दुल पागड (४०) को एवं कच्छ जिले के मांडवी से आरिफ आदम सुमरा को पकड़ा गया है।
सूचना के आधार पर एटीएस ने सबसे पहले सलाया से अजीज को पकड़ा उसके पास से पांच किलोग्राम हेरोइन बरामद हुई। उसकी पूछताछ में सामने आया कि यह हेरोइन करीब चार महीने पहले उसने व कच्छ जिले के रहने वाले आरिफ और एक अन्य युवक ने मिलकर पाकिस्तान से मंगवाई थी। करीब सौ किलोग्राम हेरोइन को मछली पकडऩे वाली नाव में छिपाकर समुद्र के रास्ते कच्छ के मांडवी में लाया गया।
जांच एजेंसी को इस ड्रग तस्करी के रैकेट में आतंकी संगठनों की लिप्तता के भी संकेत मिले हैं। वर्ष २०१४ में ऑस्ट्रेलियाई नेवी की ओर से समुद्री रास्ते हेरोइन की हेराफेरी के रैकेट को इंटरसेप्ट किया गया था। जांच एजेंसी को इस ड्रग तस्करी के रैकेट में आतंकी संगठनों की लिप्तता के भी संकेत मिले हैं। वर्ष २०१४ में ऑस्ट्रेलियाई नेवी की ओर से समुद्री रास्ते हेरोइन की हेराफेरी के रैकेट को इंटरसेप्ट किया गया था।

Ad Block is Banned