Gujarat: ATS, Coast Guard के संयुक्त ऑपरेशन ने पकड़ा Pakistan की ओर से भेजा नशीला जहर

Gujarat, ATS, Coast Guard, Pakistani, boat,

By: Uday Kumar Patel

Updated: 06 Jan 2020, 06:14 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात का समुद्री इलाका काफी संवेदनशील माना जाता है। राज्य से सटे समुद्री इलाके में कई बार पाकिस्तानी मछुआरे बोट के साथ पकड़े जाते हैं। अब सीमा पार से इस तट का उपयोग मादक द्रव्यों की तस्करी के लिए किया जा रहा है।
पिछले करीब दो वर्षों से सीमा पार से भारत की गुजरात से लगती समुद्री सीमा में नारकोटिक्स ड्रग्स (मादक पदार्थों) की तस्करी को लेकर लगातार गतिविधि जारी है। ऐसे में इस गतिविधि को अंजाम देने के प्रयास को नाकाम करते हुए गुजरात पुलिस की आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) की टीम ने भारतीय कोस्ट गार्ड के साथ मिलकर एक संयुक्त ऑपरेशन में कच्छ की समुद्री सीमा में जखौ के पास पाकिस्तानी बोट में 175 करोड़ रुपए के हीरोइन का जत्था जप्त किया। साथ ही इस बोट में सवार 5 पाकिस्तानी नागरिकों को भी पकड़ा।
एटीएस को यह सूचना मिली कि अवैध नारकोटिक्स का जत्थे को पाकिस्तान से वहां की मछली पकडऩे वाली बोट में गुजरात तट से तस्करी किया जाना है। ऐसे में एटीएस अधिकारियों ने कोस्ट गार्ड का संपर्क किया। इसके बाद तस्करों और नारकोटिक्स पदार्थ को जप्त करने के एक संयुक्त ऑपरेशन के तहत कोस्ट गार्ड के इंटरसेप्टर बोट कच्छ के जखौ पहुंचे जहां पर मरीन टास्क फोर्स के कमांडो पहले से भारतीय सीमा में अन्यथा बोट पर तैनात थे। जखौ से उत्तर पश्चिम के नजदीकी इलाके में सर्च ऑपरेशन किया गया। तभी एक शंकास्पद पाकिस्तानी बोट उस इलाके में दिखी। भारतीय कोस्ट गार्ड के इंटरसेप्टर बोट ने पाकिस्तानी बोट का पीछा शुरू किया और मौका पाते ही एटीएस और कोस्ट गार्ड के अधिकारी और कर्मी शंकास्पद बोट पर सवार हो गए।
शंकास्पद बोट के सर्च करने पर हेरोइन के 35 पैकेट जप्त किए गए। इस पाकिस्तानी बोट जमजम से जप्त नारकोटिक्स की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 175 करोड़ रूपए बताई जाती है। बोट पर सवार 5 पाकिस्तानी नागरिक को पकड़ा गया है जिनसे संयुक्त एजेंसियां संयुक्त रूप से पूछताछ कर रही है।

Show More
Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned