Gujarat congress: 'सीबीएसई की तर्ज पर गुजरात में पाठ्यक्रम घटाया जाए'

Gujarat congress, CBSE, Gujarat, examination system, school fees: परीक्षा प्रणाली व अंक देने समेत प्रक्रिया शीघ्र घोषित हो

By: Pushpendra Rajput

Published: 15 Sep 2020, 09:26 PM IST

गांधीनगर. केन्द्रीय शिक्षा माध्यमिक बोर्ड (CBSE) की तर्ज पर गुजरात (Gujarat) में भी पाठ्यक्रम घटाना चाहिए। यही नहीं परीक्षा प्रणाली (examination) अंक समेत मुद्दों को लेकर शीघ्र घोषणा करनी चाहिए ताकि विद्यार्थियों (students) को शिक्षक परीक्षा (education) की तैयारी करा सकें। विशेष तौर पर कक्षा दसवीं और बारहवीं के छात्र असमंजस की स्थिति में हैं. ऐसे हालातों में पाठ्यक्रम में शैक्षणिक दिनों की ध्यान में रखकर पाठ्यक्रम घटाना चाहिए। गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के मुख्य प्रवक्ता मनीष दोशी ने जारी बयान में राज्य सरकार से यह मांग की है।

इस मुद्दे को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, शिक्षा मंत्री भूपेन्द्रसिंह चुड़ास्मा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी, अतिरिक्त मुख्य सचिव को पत्र भी लिखा है।
उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित शैक्षणिक व्यवस्था है।

कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा होने पर सबसे पहले ्सकूल-कॉलेज (school-college) बंद किए गए थे और सबसे बाद में स्कूल-कॉलेज ही खुलने वाले हैं। अभिभावक भी चिंतित हैं। जब तक कोरोना संक्रमण नहीं थमता तब तक स्कूल-कॉलेज नहीं खोलने चाहिए। राज्य में मार्च से शैक्षणिक कार्य बंद हैं। अक्टूबर-नवम्बर तक स्कूल खुलने की संभावना नहीं है। स्कूलों में इलेक्ट्रिक सिटी, प्रशासनिक खर्च, रखरखाव खर्च , अन्य खर्च नहीं हो रहे ऐसे में छात्रों की एक सत्र की फीस माफ करनी चाहिए।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned