Gujarat congress:  सौराष्ट्र के विधायक पहुंचे अबडासा ....!!

Gujarat congress, MLA, rajya sabha election, leader of oppostion : राज्यसभा चुनाव...

By: Pushpendra Rajput

Updated: 14 Jun 2020, 09:52 PM IST

गांधीनगर. गुजरात कांग्रेस (Gujrat congress) और विधायक (MLA) पद से इस्तीफा देने वालों को सबक सिखाने के लिए सौराष्ट्र (Saurastra) के विधायकों ने बिगूल फूंका है। ये विधायक हर रोज सौराष्ट्र और कच्छ के अलग-अलग विधानसभा (vidhan sabha ) क्षेत्रों में जा रहे हैं, जहां के विधायकों ने राज्यसभा चुनाव से पहले पार्टी से इस्तीफा दिया है। सौराष्ट्र के 18 विधायकों ने राजकोट के नील रिसोर्ट (resort) से ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए बोटाद के गढड़ा से 'लोकशाही बचाओÓ अभियान के नाम से इसकी शुरुआत की थी, जो अमरेली के धारी, खांभा में जनता और कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद शनिवार को मोरबी में एक फार्म में बैठक की थी। रविवार को ये विधायक कच्छ जिले की अबडासा विधानसभा पहुंचे।

अबडासा विधानसभा से कांग्रेस से विधायक रहे प्रद्युम्नसिंह जाड़ेजा ने राज्यसभा चुनाव की घोषणा होने के कुछ समय बाद ही मार्च में विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके चलते रविवार को गुजरात विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोढवाडिया के नेतृत्व में सौराष्ट्र-कच्छ के 18 विधायकों ने अबडासा के एक पार्टी प्लॉट में बैठक की, जिसमें आमजन के साथ पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।

अकेले नहीं अबडासा की जनता
धानाणी ने अबडासा की जनता और कार्यकर्ता को संबोधित करते कहा कि जिसे वोट देकर विधानसभा भेजा था वह कोरोना जैसी महामारी में आपको छोड़कर चला गया, लेकिन आप अकेले नहीं हो। पूरी कांग्रेस आपके साथ है। अगले उप चुनाव में ऐसे लोगों को सबक सिखाना है, जिसने द्रोह किया है। सत्ता के मद में चूर लोग जनता की समस्याएं सुनने के बजाय जनता की ईमानदारी खरीदने के लिए दुकान खोली है। ऐसे लोगों को अबडासा की जनता सबक सिखाएगी।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोढवाडिया ने भी विधायक पद से इस्तीफा देकर जनता और कांग्रेस से द्रोह करने वालों को सबक सिखाने का जनता से आव्हान किया। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जोश के साथ फिर से मैदान में उतरने आह्वान किया।
वहीं अबडासा के बाद विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी के साथ इन विधायकों ने कच्छ के माताना मढ में मां आशापुरा के चरणों में शीश झुकाया और जनता की आवाज को बुलंद करने का संकल्प लिया। साथ ही कोरोना जैसे महामारी से छुटकारा दिलाने के लिए प्रार्थना की।
विधायकों ने अम्बाजी मंदिर में दर्शन किए
उधर, उत्तर गुजरात के विधायक जो गुजरात-राजस्थान की सीमा में एक रिसोर्ट में ठहरे हैं उन विधायकों ने रविवार को बनासकाठा जिले के अम्बाजी मंदिर में दर्शन किए। ये विधायक मुख्य दरवाजे से टोकन लेकर वहां पहुंचे थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नरेश रावल के साथ विधायक अश्विन कोटवाल, चंदन ठाकोर, कांति खराडी के समेत 30 से ज्यादा विधायक और कांग्रेस के नेता शामिल थे। राज्यसभा चुनाव के चलते इन विधायकों को राजस्थान में माउन्ट आबू के निकट एक रिसोर्ट में ठहराया गया है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned