Gujarat:  ३६ शहरों में २७ मई तक रहेगा रात्रि कोरोना कफ्र्यू

Gujarat, corona curfew, bazar, shops, CM rupani, Gujarat government: बाजार-दुकानें आज से सुबह नौ से अपराह्न 3 बजे रह सकेंगी खुली, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

By: Pushpendra Rajput

Published: 20 May 2021, 09:10 PM IST

गांधीनगर. गुजरात सरकार ने रोजगार-धंधे खोलने को लेकर आंशिक राहत दी है। शुक्रवार सुबह नौ बजे से अपराह्न तीन बजे तक बाजाार, दुकानें और लारी-गल्ले खुल रखे जा सकेंगे। कई व्यापारिक संगठनों ने रोजगार खोलने को लेकर राज्य सरकार से अपील की है। इसके मद्देनजर ने ही मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने चक्रवात प्रभावित इलाकों के दौरे के दौरान अहम घोषणा की। उन्होंने घोषणा की कि बाजार, दुकान और लारी-गल्ला शुक्रवार सुबह 9 से अपराह्न 3 बजे तक खुले रह सकेंगे। हालांकि सभी को कोरोना संक्रमण को रोकने के सभी नियमों का पालन करना होगा। हालांकि रात्रि कफ्र्यू में कोई भी ढील नहीं दी गई है।

गुजरात के आठ महानगरों समेत ३६ शहरों में २७ मई तक रात्रि 8 से सुबह 6 बजे तक कोरोना कफ्र्यू लगा रहेगा। सभी आवश्यक सेवाएं दोपहर तीन बजे बाद भी चालू रहेंगी, जिसमें अनाज- किराना की दुकानें, सब्जी, मिल्क पार्लर, बेकरी, मेडिकल, फलफलादि समेत खाद्य पदार्थों की दुकानें शामिल हैं।
इसके अलावा इन सभी 36 शहरों में उद्योग-धंधे, औद्योगिक इकाइयां, और निर्माण इकाइयों में भी कामकाज शुरू रहेगा। वहीं निजी कार्यालयों में पचास फीसदी कर्मचारियों की मौजूदगी में खुले रह सकेंगे। मास्क, सोशल डिस्टेसिंग नियमों का पालन करना होगा।

राज्य सरकार ने २७ मई तक आवश्यक सेवा प्रवृत्तियां चालू रखने के आदेश दिए हैं। वहीं कोविड सेवा में शामिल तत्काल सेवाएं, मेडिकल, पैरा मेडिकल तथा उससे संबंधित स्वास्थ्य सेवाएं , ऑक्सीजन उत्पादन एवं वितरण व्यवस्था चालू रहेंगी। इसके अलावा अनाज-किराना की दुकान, सब्जी, फल-सब्जी, मेडिकल स्टोर, मिल्क पार्लर, बेकरी, खाद्य पदार्थों की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं राज्य में चश्मा की दुकानों को मेडिकल सर्विसेज मानते हुए खुली रहेंगी। वहीं इन शहरों में सभी उद्योगों, उत्पादन इकाइयों, कारखानों, एवं निर्माण क्षेत्र की इकाइयां खुली रहेंगी। हालांकि इन इकाइयों को दिशा-निर्देशों (एसओपी) का सख्त से पालन करना होगा। वहीं सभी मेडिकल और पैरामेडिकल सेवाएं भी खुली रहेंगी।

पचास व्यक्तियों की मौजूदगी में हो सकेगी शादी

खुले अथवा बंद स्थलों पर विवाह समारोहों में नियमानुसार ज्यादा से ज्यादा 50 व्यक्ति ही उपस्थित रह सकेंगे। अंतिम क्रिया या दफन विधि में 20 व्यक्ति ही हाजिर रह सकेंगे। राज्य में धार्मिक स्थलों पर आमजन का प्रवेश बंद रहेगा। सिर्फ इन धार्मिक स्थलों पर संचालक और पुजारी पूजा विधि कर सकेंगे। राज्यभर में पब्लिक बस ट्रांसपोर्ट पचास फीसदी क्षमता के साथ चलेंगे।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned