Gujarat: 625 कोविड डेज्गिनेटेड अस्पतालों में फायर एनओसी नहीं

Gujarat, covid designated hospital, no fire NOC, gujarat high court

By: Uday Kumar Patel

Published: 11 May 2021, 11:53 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात हाईकोर्ट ने भरूच के कोविड अस्पताल में आग लगने की घटना में 18 जनों की मौत के मामले में दायर जुड़ी याचिका पर मंगलवार को सुनवाई करते हुए न्यायाधीश बेला एम. त्रिवेदी और न्यायाधीश भार्गव डी कारिया की खंडपीठ ने कहा कि ऐसे मामलों में किसी को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। सिर्फ आयोग गठित करने से कोई समाधान नहीं हो सकता।

याचिकाकर्ता वकील अमित पंचाल की ओर से दलील दी गई कि राज्य सरकार की ओर से पेश किए शपथपत्र में यह कहा जा चुका है कि राज्य सरकार की ओर से फायर सेफ्टी के मुद्द को ध्यान में रखते हुए 1517 अस्पतालों में से 1448 अस्पतालों का निरीक्षण किया गया।
इनमें से 625 कोविड डेजिग्नेट अस्पताल के पास कोई फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र ( एनओसी) नहीं पाई गई। राज्य सरकार की ओर से गठित जांच आयोग की रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की जाती। इस पर महाधिवक्ता ने बचाव करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है कि आयोग की रिपोर्ट का कोई अमल नहीं किया जाता। उन्होंने दलील दी कि हाईकोर्ट की ओर से 20 वर्ष पहले दिए गए आदेश के बावजूद इसका पालन नहीं किया जा रहा है।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned