Ahmedabad News गुजरात के शिक्षा मंत्री ने 29 सालों के बाद अपनी मां के हाथों खाई मिठाई, ये थी छोडऩे की वजह

Gujarat education minister, bhupendra singh chudasma, Ayodhya, Ram temple, verdict, suprem court, advani yatra अयोध्या राम मंदिर पर फैसले के साथ ही गुजरात के शिक्षा मंत्री की मान्यता भी हुई पूरी

 

अहमदाबाद. अयोध्या में राम मंदिर की भूमि को लेकर चल रहे विवाद पर सुप्रीमकोर्ट की ओर से शनिवार को फैसला सुनाए जाने के साथ ही गुजरात के शिक्षा मंत्री की मान्यता भी पूरी हो गई। जिसके चलते शिक्षा मंत्री भूपेन्द्र सिंह चुड़ास्मा ने रविवार को उनकी 92 वर्षीय मां कमलाबेन के हाथों 29 सालों के बाद मिठाई खाई।
खुद भूपेन्द्र सिंह चुड़ास्मा ने ट्विट करके यह जानकारी सार्वजनिक की। जिसमें उन्होंने मां के हाथों मिठाई खा रहे होने का फोटो भी साझा किया।
चुड़ास्मा ने ट्विट करके बताया कि 29 साल पहले राम मंदिर के लिए भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की ओर से यात्रा निकाली गई थी। अयोध्या में राम मंदिर बनने को लेकर स्थिति साफ नहीं होगी तब तक वे मिठाई नहीं खाएंगे ऐसी मान्यता उन्होंने रखी थी। अब जब सुप्रीमकोर्ट ने विवादित भूमि पर रामलला विराजमान के हक में फैसला सुनाया है तब विवाद खत्म हुआ है। जिससे उन्होंने 29 सालों के बाद मान्यता पूरी होने पर मिठाई खाई और मां से आशीर्वाद लिया।

nagendra singh rathore
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned