Gujarat : इमरजेंसी 108 एम्बुलेंस नॉन कोविड मरीजों के लिए भी रिजर्व

राज्य में 267 व अहमदाबाद शहर में 25 को किया रिजर्व

By: Omprakash Sharma

Published: 03 May 2021, 11:11 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना की महामारी के कारण इमरजेंसी 108 सेवा की ज्यादातर एम्बुलेंस कोविड शंकास्पद मरीजों को अस्पताल पहुंचाने में लगी रहती थीं, जिससे अन्य इमरजेंसी वाले मरीजों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा था। अब कोविड और नॉन कोविड इमरजेंसी के लिए एम्बुलेंस आरक्षित की गई हैं। अहमदाबाद में कुल 130 एम्बुलेंस में से 25 को व राज्य में 800 में से 267 को रिजर्व रखा है।
गुजरात 108 एम्बुलेंस सेवा के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर( सीओओ) जशवंत प्रजापति के अनुसार पिछले कुछ दिनों से गुजरात में 108 सेवा का ज्यादातर उपयोग कोविड मरीजों के लिए होने से अन्य इमरजेंसी में लोगों को समस्या होती थी। जिसे ध्यान में रखकर अब इस सेवा को दो भागों में विभाजित किया गया है। गुजरात में नई आईं 150 एम्बुलेंस समेत कुल संख्या 800 हो गई है। इनमें से आगामी निर्णय तक 533 एम्बुलेंस को कोविड के लिए उपयोग में लिया जाएगा जबकि शेष 267 को अन्य इमरजेंसी जैसे सड़क दुर्घटना, हृदय रोग, प्रसूता को अस्पताल पहुंचाने या फि सर्प दंश जैसी स्थिति में उपयोग में लिया जा सकेगा। अहमदाबाद में कुल 130 में से 25 को नॉन कोविड व शेष 105 को कोविड मरीजों को अस्पताल पहुंचाने में उपयोग किया जा सकेगा।

64 हजार तक पहुंच गया कॉल वॉल्युम
सीओओ प्रजापति ने बताया कि कोरोना काल के चलते 108 सेवा का 64 हजार तक कॉल वॉल्युम पहुंच गया। सामान्य दिनों में यह सात से आठ हजार था। सामान्य दिनों में मरीज को अस्पताल पहुंचाने का औसत समय सात से आठ मिनट था जो बढ़कर तीन से चार घंटे तक हो गया था। पिछले कुछ दिनों से निजी वाहनों में भी मरीज को कोविड अस्पतालों में मरीज को पहुंचाए जाने की छूट से 64 हजार कॉल से घटकर 15000 तक हो गया है। हालांकि यह कॉल वॉल्युम भी सामान्य दिनों की तुलना में दुगना है। पिछले दिनों अस्पताल पहुंचाने में अधिक समय का कारण कोविड मरीजों में एकाएक हुई वृद्धि से 108 सेवा की मांग बढ़ी थी। जिससे अस्पतालों में भी काफी देर तक एम्बुलेंस कतार में खड़ी रहती थी।

1.89 लाख कोविड शंकास्पदों को पहुंचाया हॉस्पिटल
राज्य में कोविड काल में 1.89 लाख से अधिक कोविड शंकास्पदों को 108 के माध्यम से अस्पतालों तक पहुंचाया जा सका है। इनमें से गत अप्रेल माह में ही 48 हजार से अधिक मरीजों को अस्पताल तक पहुंचाया गया था। गत मार्च माह में 7473, फरवरी में कोविड शंकास्पद 975 को अस्पताल पहुंचाया गया।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned