Gujarat: गुजरात के किसानों पर 90 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज, केन्द्र के ऋण माफी की कोई योजना नहीं

Gujarat, Farmers debts, loan, Tamilnadu

By: Uday Kumar Patel

Published: 28 Jul 2021, 10:58 PM IST

अहमदाबाद. देश में किसानों के माथे पर 16.8 लाख करोड़ का कर्ज है। केन्द्र सरकार ने संसद में यह जानकारी दी कि देश में सभी राज्यों के किसानों के 16.8 लाख करोड़ रुपए ऋण के रूप में कर्ज हैं।
केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री भागवत कराड ने गत दिनों लोकसभा में तमिनलाडु की करूर से कांग्रेस सांसद जोतिमणि के सवाल के जवाब में यह बताया कि नाबार्ड के आंकड़ों के मुताबिक इस वर्ष 31 मार्च तक देश ेके किसानों को 13.85 करोड़़ से ज्यादा बैंक खातों में 16.8 लाख करोड़ रुपए का ऋण अदा करना बाकी है।
साथ ही यह भी कहा गया कि केन्द्र सरकार की ओर से किसानों के कर्ज माफी की कोई योजना नहीं है।
आंकड़ों पर गौर करें तो पता चलता है कि सबसे ज्यादा तमिलनाडु के किसानों पर 1.89 लाख करोड़ से ज्यादा का कर्ज है। यहां पर 1.64 लाख खाते हैं।

दूसरे स्थान पर आंध्र प्रदेश के किसानों पर 1.69 लाख करोड़ से ज्यादा, उत्तर प्रदेश के किसानों पर 1.55 लाख करोड़ से ज्यादा, महाराष्ट्र के किसानों पर 1.53 करोड़ से अधिक और कर्नाटक के किसानों पर 1.43 लाख करोड़ के कर्ज हैं।
आंध्र प्रदेश में 1.20 करोड़ से ज्यादा, उत्तर प्रदेश में 1.43 करोड़ से ज्यादा, महाराष्ट्र में 1.04 करोड़ से अधिक तथा कर्नाटक में 1.08 करोड़ से ज्यादा खातों में यह कर्ज है।

गुजरात के किसानों पर 90 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज है।

उधर केन्द्र शासित प्रदेशों दमन-दीव और लक्षद्वीप के किसानों पर सबसे कम कर्ज है।
दमन दीव के किसानों पर जहां 40 करोड़ रुपए का कर्ज है वहीं लक्षद्वीप के किसानों पर 60 करोड़ के कर्ज का भार है।
सिक्किम, लद्दाख और मिजोरम के किसानों पर क्रमश: 175, 275 और 556 करोड़़ रुपए का कर्ज है।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned