Gujarat: गांधीनगर मनपा चुनाव से होगा भाजपा का लिटमस टेस्ट

Gujarat, Gandhinagar, coroporation election, BJP

By: Uday Kumar Patel

Updated: 20 Sep 2021, 10:43 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात में बड़े राजनीतिक घटनाक्रम में नए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने पद संभाल लिया है। राज्य में विधानसभा चुनाव को एक वर्ष का समय बाकी है। उधर गांधीनगर महानगरपालिका चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। सत्ता के केंद्र के स्थल के रूप में प्रसिद्ध राजधानी के चुनाव पर सभी का निगाह होना स्वाभाविक है। राज्य की सत्ता में बदलाव के बाद बाद यह पहला बड़ा चुनाव होगा। इस चुनाव से सत्ताधारी भाजपा का लिटमस टेस्ट होगा।
यह इस पर निर्भर करेगा कि क्या राज्य में मुख्यमंत्री के बदलने से भाजपा की चुनावी राजनीति पर कितना फर्क पड़ता है।
राजधानी होने के कारण गांधीनगर में सबसे ज्यादा सरकारी कर्मचारी और अधिकारी रहते हैं। कोरोना काल में दूसरी लहर के दौरान प्रस्तावित चुनाव से ऐन पहले इसे स्थागित करना पड़ा। फिलहाल भाजपा यहां के शासन पर काबिज है। इसके पहले कांग्रेस की सत्ता यहां रह चुकी है। हालाकि कम सीटें होने के कारण दल-बदल की संभावना ज्यादा देखी गई है। इस बार भाजपा के साथ कांग्रेस भी जोर लगाना चाहेगी वहीं आम आदमी पार्टी भी इस स्थानीय चुनाव को गंभीरता से लेते हुए मुकाबले में है। आम आदमी पार्टी इन मुद्दों को उठा रही है। वैसे भी सूरत महानगर पालिका चुनाव में २७ सीटें प्राप्त करने के बाद पार्टी में उत्साह है।
कोरोना की दूसरी लहर के बाद ये पहला बडा चुनाव है जिसमें भाजपा का लिटमस टेस्ट होगा। वैसे शहरी इलाकों में भाजपा का जोर रहा है। इस वर्ष फरवरी महीने में सम्पन्न राज्य की ६ महानगरपालिकाओं के चुनाव में भाजपा को भारी जीत मिली वहीं सूरत में कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिल सकी। वहां पर नई नवेली आम आदमी पार्टी विपक्ष में बैठी। इसलिए अगले वर्ष विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दल को अपनी स्थिति को टटोलने का ये बेहतर मौका है।

BJP
Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned