Gujarat Govt. : भ्रष्टाचार पर लगी लगाम

Gujarat government, take action, corruption, home minister, anti-corruption, ahmedabad news, gujarat news

By: Pushpendra Rajput

Published: 01 Mar 2020, 10:18 PM IST

गांधीनगर. गुजरात सरकार (Gujarat government) ने भ्रष्टाचार (Corruption) पर लगाम को बेहतर कदम उठाए हैं। इस वर्ष अब तक 31 ट्रैप (trap) किए गए, जिसमें 74 कर्मचारियों और अधिकारियों (officers) पर कार्रवाई की गई। राज्य के गृहमंत्री (Home minister) प्रदीपसिंह जाड़ेजा ने सदन में राज्यपाल का आभार प्रस्ताव में चर्चा के दौरान यह बात कही।
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचाररोधी ब्यूरो (ACB) को और सशक्त बनाया गया है। जहां पिछले वर्ष एसीबी ने 190 ट्रेप की थी। वहीं इस वर्ष अब तक 31 ट्रेप की गई। जहां पिछले वर्ष 444 अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई हुई थी। वहीं इस वर्ष 74 अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। राज्य में कानून -व्यवस्था ( Law and orders) को और प्रभावी बनाने के लिए राज्य सरकार ने कई कानूनों में संशोधन किए हैं और कानून को सख्त बनाए हैं। जहां महिलाओं () women) के गले से सोने की चेन छीनने की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए अपराधिक मामले में संशोधन किया गया। ऐसे मामलों में लिप्त व्यक्तियों को दस वर्ष की सख्त कैद और सजा का प्रावधान किया या है। वहीं पचास हजार तक जुर्माने का प्रावधान है। इसी तरह से महिलाओं और बालिकाओं से दुष्कर्म के किस्सों में पोक्सो के मामलों में स्पेशल फास्ट ट्रेक कोर्ट बनाए गए हैं ताकि मामलों का तीव्र और प्रभावी तरीके से ट्रायल हो। इसके लिए पैरवी अधिकारी की नियुक्ति की गई है। इन मामलों में आरोपियों को सजा भी दी गई है।
राज्य में विश्वास प्रोजेक्ट के तहत 315 करोड़ का प्रावधान किया गया, जिसमें राज्य के प्रमुख छह पवित्र यात्राधाम, स्टेच्यू ऑफ यूनिटी समेत 41 स्थानों पर 1238 जंक्शन पर सात हजार से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। सर्वेलंस नेटवर्क को मजबूत किया है।
उन्होंने कहा कि लोकरक्षक दल में भर्ती के मामले पर जातिवाद का संघर्ष कराने के लिए कांग्रेस ने नाकामयाब प्रयास किए हैं। पिछले वर्ष राज्य सरकार ने 41,257 लोकरक्षकों की पारदर्शिता से भर्ती की। आगामी समय में भी लोकरक्षकों की भर्ती की जाएगी।
उन्होंने यह भी कहा कि केवडिया में विश्व के आठ अजूबे जैसी सरदार वल्लभभाई पटेल की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का निर्माण कराकर सैलानियों आकर्षण बढ़ाया। यहां अब तक 42 लाख से ज्यादा सैलानी आ चुके हैं। गुजरात की जानी-मानी फोरेसिंक साइंस यूनिवर्सिटी एवं रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी को केन्द्र सरकार को केन्द्र सरकार ने नेशनल फोरेसिंक साइंस यूनिवर्सिटी और रक्षा यूनिवर्सिटी को नेशनल पुलिस यूनिवर्सिटी के तौर पर पहचान दी जाएगी। गुजरात पुलिस के बेहतर कार्य को देखते हुए राष्ट्रपति ने प्रेसिडेन्ट कलर्स अवार्ड से सम्मानित किया है।

Show More
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned