गुजरात में गठित होगा संस्कृत बोर्ड

nagendra singh rathore

Publish: Jul, 13 2018 10:10:52 PM (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
गुजरात में गठित होगा संस्कृत बोर्ड

अषाढ़ी पूर्णिमा से एक सप्ताह संस्कृत उत्सव,
संस्कृतोत्सव में शिक्षामंत्री ने की घोषणा

अहमदाबाद. संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए गुजरात सरकार की ओर से संस्कृत बोर्ड गठित करने की तैयारी दर्शाई गई है।
शिक्षामंत्री भूपेन्द्र सिंह चुड़ास्मा ने शुक्रवार को गुजरात विश्वविद्यालय के सीनेट सभागार में आयोजित संस्कृतोत्सव कार्यक्रम में इसकी घोषणा की।
उन्होंने कहा कि संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने, प्रचार-प्रसार करने के लिए सरकार की ओर से राज्य स्तरीय संस्कृत बोर्ड गठित किया जाएगा। इसे संस्कृत भाषा के विकास के लिए विशेष फंड जारी किया जाएगा। यह बोर्ड अन्य संवैधानिक बोर्ड या फिर निगम की तरह ही काम करेगा।
इसके अलावा उन्होंने अषाढ़ी पूर्णिमा से एक सप्ताह तक संस्कृत उत्सव मनाने की भी घोषणा की। इस दौरान सरकार की ओर से संस्कृत भाषा को लोगों में लोकप्रिय बनाने के लिए उत्सव मनाया जाएगा। कार्यक्रम, गोष्ठियां आयोजित की जाएंगीं।
गुजरात विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.हिमांशु पंड्या ने बताया कि शिक्षामंत्री की ओर से की गई राज्य में संस्कृत बोर्ड गठित करने की घोषणा देवभाषा संस्कृत को एक बार फिर से जन-जन की भाषा बनाने में काफी मदद मिलेगी। गुजरात विश्वविद्यालय ने संस्कृत भाषा को जन जन में लोकप्रिय करने और उन्हें यह भाषा बोलना सिखाने के लिए अल्पकालिक प्रमाण-पत्र पाठ्यक्रम भी शुरू किए हैं। इसे लोगों का अच्छा प्रतिभाव भी मिल रहा है। यहां लोगों की अनुकूलता के हिसाब से कुछ घंटे समय तय करके उन्हें संस्कृत भाषा में बोलना सिखाया जाता है।
संस्कृत साहित्य अकादमी की ओर से जीयू में संस्कृतोत्सव-2018 कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस समारोह में वर्ष 2017-18 व वर्ष 2018-19 के संस्कृत भाषा के वेद पंडितों का सम्मान, संस्कृत साहित्य गौरव पुरस्कार, संस्कृत युवा गौरव पुरस्कार व संस्कृत कुटुंबों के गणमान्य के हाथों सम्मानित किया गया।

गुजरात विश्वविद्यालय ने संस्कृत भाषा को जन जन में लोकप्रिय करने और उन्हें यह भाषा बोलना सिखाने के लिए अल्पकालिक प्रमाण-पत्र पाठ्यक्रम भी शुरू किए हैं। इसे लोगों का अच्छा प्रतिभाव भी मिल रहा है। यहां लोगों की अनुकूलता के हिसाब से कुछ घंटे समय तय करके उन्हें संस्कृत भाषा में बोलना सिखाया जाता है।
संस्कृत साहित्य अकादमी की ओर से जीयू में संस्कृतोत्सव-2018 कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस समारोह में वर्ष 2017-18 व वर्ष 2018-19 के संस्कृत भाषा के वेद पंडितों का सम्मान, संस्कृत साहित्य गौरव पुरस्कार, संस्कृत युवा गौरव पुरस्कार व संस्कृत कुटुंबों के गणमान्य के हाथों सम्मानित किया गया।

Ad Block is Banned