गुजरात सरकार ने केन्द्र से 1750 करोड़ की राहत आपदा की मांगी मदद

-केन्द्रीय टीम ने अकालग्रस्त इलाकों का दौरा किया

-राज्य के 51 तहसील अकालग्रस्त

By: Uday Kumar Patel

Published: 18 Dec 2018, 06:08 PM IST

 

गांधीनगर. इस वर्ष मानसून के दौरान कम बारिश के कारण राज्य में कच्छ, पाटण व बनासकांठा सहित कई जिलों के 51 तहसीलों को अकालग्रस्त घोषित किया गया है। केन्द्र के 15 अधिकारियों की टीम इन तहसीलों में पिछले तीन दिनों से जायजा ले रही थी। टीम ने सोमवार को राज्य के मुख्य सचिव डॉ. जे. एन. सिंह से मुलाकात की।
इस बैठक में गुजरात सरकार की ओर से 1750 करोड़ के राहत पैकेज की मांग को लेकर प्रजेन्टेशन दिया गया। बैठक में पैकेज के साथ-साथ ग्राउंड रिपोर्ट को लेकर परामर्श किया गया।
टीम ने राज्य के अति प्रभावित कच्छ, बनासकांठा व पाटण सहित कुछ प्रभावित जिलों का दौरा किया। इन स्थलों पर जारी राहत कार्यों का निरीक्षण किया गया।
अच्छी बारिश नहीं होने के कारण राज्य सरकार ने 1750 करोड़ की सहायता का आवेदन टीम के समक्ष रखा है।
राज्य सरकार की ओर से पीने के पानी, सिंचाई, कृषि किट सहायता दिए जाने सहित विभिन्न काम जारी है। मुख्यसचिव के साथ इस बैठक में राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार, राहत आयुक् मनोज कोठारी, राहत निदेशक बी.के. पटेल उपस्थित थे।
राज्य सरकार की ओर से 1750 करोड़ का राहत पैकेज की मांग को लेकर प्रेजेन्टेशन तैयार किया गया है। अब राज्य सरकार के प्रेजेन्टेशन और ग्राउण्ड रिपोर्ट के आधार को ध्यान में रखकर केन्द्र सरकार की ओर से पैकेज को लेकर अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

उधर इससे पहले गत महीने गुजरात सरकार ने किसानों के लिए एक अहम निर्णय में राज्य के 250 से 400 मिलीमीटर के बारिश वाले 45 तहसीलों के किसानों के लिए बुधवार को 1300 करोड़ का विशेष सहायता पैकेज जारी किया गया।
राज्य सरकार ने पहले 51 तहसीलों को अकालग्रस्त घोषित किया था। इससे पहले राज्य सरकार ने 250 मिलीमीटर से कम बारिश वाले 51 तहसीलों को अकालग्रस्त घोषित किया था।
अब तक के इतिहास में पहली बार राज्य सरकार की ओर से 45 तहसीलों के लिए सहायता पैकेज जारी किया गया।
इन 45 तहसीलों में अहमदाबाद व राजकोट जिले की 6-6 तहसील, मेहसाणा जिले की पांच तहसील, बनासकांठा जिले की चार तहसील, सुरेन्द्रनगर, भावनगर, बोटाद, गांधीनगर व अमरेली जिले की 3-3, मोरबी व वडोदरा जिले की 2-2 तहसील, देवभूमि द्वारका, पाटण, महीसागर, भरूच व जामनगर जिले की एक-एक तहसील शामिल हैं।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned