Gujarat high court: कोरोना की जंग में कोरोना वॉरियर्स बन सकते हैं एमबीबीएस विद्यार्थी

Gujarat high court, Covid Sahayak, Corona, Ahmedbad, MBBS

By: Uday Kumar Patel

Published: 25 Aug 2020, 11:39 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात हाईकोर्ट ने मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई कर रहे एमबीबीएस के विद्यार्थियों को अनिवार्य रूप से कोविड सहायक के रूप में ड्यूटी निभाए जाने के राज्य सरकार के निर्णय को चुनौती देने वाली 146 विद्यार्थियों की याचिका खारिज कर दी है।
मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ व न्यायाधीश जे बी पारडीवाला की खंडपीठ ने इस संबंध में एक मार्मिक अवलोकन में कहा कि मेडिकल के विद्यार्थी देश का भविष्य हैं और इसलिए उनकी कई जिम्मेदारी व कर्तव्य है। ये भविष्य में मेडिकल क्षेत्र में चिकित्सक बनेंगे। इसलिए फिलहाल वे चिकित्सक हैं या नहीं, इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता। ये विद्यार्थी फिलहाल विभिन्न चिकित्सकीय सेवाओं के लिए प्रशिक्षित नहीं हों, लेकिन वे ऐसा नहीं कह सकते है कि वे काम नहीं कर सकते। क्या ये विद्यार्थी कोरोना के समय सेवा देने से डरते हैं या फिर खुद को सार्वजनिक हित की ड्यूटी निभाने से बचा रहे हैं। इस याचिका से ऐसा प्रतीत होता है कि समाज का जो भी हो वे खुद को सुरक्षित रखने की ज्यादा इच्छा रखते हैं। अहमदाबाद महानगरपालिका संचालित एनएचएल मेडिकल कॉलेज और एमएमसी एमईटी मेडिकल कॉलेज के 146 विद्यार्थियों ने कोविड सहायक के रूप में सरकारी प्रस्ताव को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned