Gujarat: गुजरात हाईकोर्ट ने मांगा जवाब, गुजरात के अस्पतालों सहित बहुमंजिला इमारतों में फायर सेफ्टी कानून के अमल की क्या स्थिति है?

Gujarat, High court, Hospital, fire safety act, high rise buildings,

By: Uday Kumar Patel

Published: 26 Aug 2020, 11:01 PM IST

अहमदाबाद. शहर के नवरंगपुरा स्थित निजी कोविड अस्पताल में आठ कोरोना मरीजों की मौत की घटना को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए गुजरात हाईकोर्ट ने राज्य सरकार और अहमदाबाद महानगरपालिका से जानना चाहा है कि अहमदाबाद सहित राज्य भर के अस्पतालों सहित बहुमंजिला इमारतों में फायर सेफ्टी कानून के अमल की क्या स्थिति है। इन इमारतों में फायर सेफ्टी के उपकरण लगाए गए हैं या नहीं? इन इमारतों के पास उचित फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) या इसके अनुरूप बीयू परमिशन है या नहीं?

मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ व न्यायाधीश जे बी पारडीवाला की खंडपीठ ने राज्य सरकार से इन सभी मुद्दों की एक संपूर्ण तस्वीर प्रस्तुत करते हुए सभी जानकारी के साथ छह सप्ताह में विस्तृत रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है। हाईकोर्ट के मुताबिक इसके बाद राज्य सरकार को समय नहीं दिया जाएगा। इस मामले में अगली सुनवाई 30 सितम्बर रखी गई है।

राज्य में गुजरात फायर प्रिवेन्शन एंड लाइफ सेफ्टी मिजर्स एक्ट, 2013 का कानून है जिसमें राज्य के विभिन्न इलाकों में अलग-अलग प्रकार की इमारतों में आग की घटना में लोगों व संपत्ति के आग से बचाव, सुरक्षा के प्रावधान है।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned