Gujarat: गुजरात सरकार ने हाईकोर्ट में यह माना, कोरोना की स्थिति भयावह

Gujarat, high court, state govt, situation grim, Corona

By: Uday Kumar Patel

Updated: 20 Apr 2021, 11:14 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना की भयावह स्थिति के बीच मंगलवार को गुजरात सरकार ने हाईकोर्ट में यह माना कि राज्य में कोरोना की स्थिति भयावह स्थिति है। राज्य सरकार की ओर से कोरोना को लेकर हर तरह के मुद्दे पर बचाव किया गया। हालांकि सरकारी वकील मनीषा लवकुमार ने यह माना कि राज्य में कोरोना की स्थिति भयावह स्थिति है। लेकिन फिर भी सरकार सभी तरह के उपायों में लगी हुई है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने की 14 दिन के लॉकडाउन की मांग

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की ओर से डॉ देवेन्द्र पटेल ने खंडपीठ के समक्ष मांग की कि राज्य में जिस प्रकार से कोरोना का संक्रमण फैल रहा है उसे देखते हुए 14 दिनों का संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाए। यदि ऐसा नहीं है तो सख्त पाबंदियां लगाई जाएं। इसके अलावा तहसील स्तर पर टेस्टिंग सेंटर सुनिश्चित किए जाएं। परिस्थिति पर नजर रखने को तहसील स्तर पर कमेटी बनाई जाए।

एंबुलेंस, आरटीपीसीआर टेस्टिंग, ऑक्सीजन को लेकर 26 तक पेश करें जवाब

हाईकोर्ट ने एंबुलेंस के अलावा आरटीपीसीआर टेस्ट और ऑक्सीजन की उपलब्धता की स्थिति पर राज्यसरकार से जवाव मांगा। राज्य सरकार को इन सभी मुद्दों पर उठाए गए कदमों के संबंध में 26 अप्रेल तक अपना हलफनामा पेश करना होगा। मामले की अगली सुनवाई 27 अप्रेल को होगी। उल्लेखनीय है कि कोरोना के बढ़ रहे मामलों को लेकर गुजरात हाईकोर्ट ने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर गत दिनों संज्ञान लिया था।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned