हृदय रोग, मधुमेह सहित 8 बीमारियों से ग्रस्त 87 वर्षीय बुजुर्ग महिला ने दी कोरोना को मात

Gujarat, Jamnagar, GG Hospital, 87 year old women, Covid19, Ahmedabad, beat corona 21 दिनों तक लड़ी कोरोना से जंग

By: nagendra singh rathore

Published: 23 Sep 2020, 10:56 PM IST

जामनगर. कोरोना वायरस का जानलेवा संक्रमण कई लोगों की जिंदगी लील रहा है। ऐसे में आठ विभिन्न रोगों से ग्रस्त 87 वर्षीय भगवतीबेन त्रिवेदी ने कोरोना को मात देने में सफलता पाई है। हृदय रोग, मधुमेह, ब्लडप्रेशर, थाइराइड, रीढ़ की हड्डी खिसक जाने की बीमारी से ग्रसित होने के बावजूद जब उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी।
21 दिनों तक कोरोना के चलते अस्पताल में भर्ती रहने के बाद उन्होंने आखिरकार कोरोना को मात दे ही दी। वे कहती हैं कि मजबूत मनोबल रखकर आप किसी भी बीमारी को शिकस्त दे सकते हैं। ये खुद व्यक्ति पर निर्भर करता है कि ऐसी स्थिति में व्यक्ति खुद को कितना मजबूत रखते हैं।
यह स्थिति तब है जब उन्हें कुछ दिन वेंटिलेटर का सपोर्ट भी देना पड़ा था। ऐसी स्थिति में वे कहती हैं कि वे जरूर स्वस्थ्य होकर घर जाएंगीं।
अपनी मां के कोरोना को मात देने के लिए उनके पुत्र हिरेन जीजी अस्पताल के चिकित्सक एसएस चटर्जी, भूपेन्द्र गोस्वामी, अजय खन्ना, हिमानी गोस्वामी और मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ नंदिनी उपाध्याय और नर्सिंग स्टाफ की मेहनत को श्रेय देते हैं।
वे कहते हैं कि किसी भी निजी हॉस्पिटल से बेहतर सुविधा जीजी अस्पताल में नि:शुल्क उपलब्ध है। चिकित्सक से लेकर स्टाफ सब काफी अच्छा व्यवहार करते हैं।
जीजी अस्पताल में अब तक 46 ऐसे मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं जो विभिन्न बीमारियों से ग्रसित थे। इसके बावजूद भी उन्होंने हार नहीं मानी और अस्पताल के चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ के उपचार सेवा और खुद की सकारात्मक सोच के बूते वे कोरोना को हराकर घर पहुंचे हैं।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned