scriptGujarat : less than one percent water in 20 dams, Million Cubic Meter | गुजरात के 206 में से 20 बांधों में नहीं है एक फीसदी भी संग्रह | Patrika News

गुजरात के 206 में से 20 बांधों में नहीं है एक फीसदी भी संग्रह

उत्तर गुजरात के बांधों में सबसे कम 13 फीसदी ही बचा है पानी

अहमदाबाद

Updated: May 22, 2022 09:39:48 pm

अहमदाबाद. Gujarat गुजरात में गर्मी के बीच Dams बांधों में लगातार पानी भी कम हो रहा है। प्रदेश के प्रमुख 206 बांधों में से 20 बांध तो ऐसे हैं जिनमें गत शुक्रवार तक क्षमता के मुकाबले एक फीसदी से भी कम पानी रह गया है। इनमें भी नौ सूखी हालत में हैं। रीजन के आधार पर देखा जाए तो उत्तर गुजरात की स्थिति फिलहाल सबसे खराब है। जहां 15 प्रमुख बांधों में क्षमता का 13 फीसदी ही पानी बचा है।
राज्यभर के प्रमुख (नर्मदा के अलावा) 206 बांधों में क्षमता के मुकाबले 41.3 फीसदी ही पानी बचा है। इन बांधों की कुल क्षमता 15784.40 Million Cubic Meter (MCM) मिलियन क्यूबिक मीटर (एमसीएम) है। इसके मुकाबले फिलहाल इन बांधों में 6475.65 एमसीएम पानी शेष है। हालांकि दक्षिण गुजरात के 13 बांधों में अभी भी 52.06 फीसदी जल संग्रह बचा हुआ है। इन बांधों की कुल क्षमता 8624.78 एमसीएम है। जबकि 4489.84 एमसीएम पानी उपलब्ध है। सबसे खराब स्थिति उत्तर गुजरात की है जहां के 15 बांधों में महज 254.47 एमसीएम ही पानी उपलब्ध है। इन बांधों की कुल जलसंग्रह क्षमता 1929.29 एमसीएम है।
मध्यगुजरात के 17 बांधों में कुल 2347.37 एमसीएम की क्षमता है, इसके मुकाबले फिलहाल 914.31 एमसीएम पानी उपलब्ध है जो 38.95 फीसदी है। सबसे अधिक 141 बांधों वाले सौराष्ट्र रीजन में भी देखा जाए तो स्थिति अच्छी नहीं है। इन बांधों की कुल क्षमता 2550.69 एमसीएम है, इसकी तुलना में 765.99 एमसीएम पानी बचा है। यह 30.03 फीसदी है। जबकि कच्छ के 20 बांधों में क्षमता के मुकाबले 15.36 फीसदी पानी बचा है। इस रीजन के बांधों में जलसंग्रह की क्षमता 332.27 एमसीएम है और अब मात्र 51.04 एमसीएम पानी बचा है।
Million Cubic Meter (MCM)
File photo
सरदारसरोवर में 51 फीसदी से अधिक जल संग्रह

राज्य के सबसे बड़े सरदार सरोवर (नर्मदा) बांध में क्षमता का 51.04 फीसदी जल संग्रह बचा है। 138.68 मीटर ऊंचाई वाला यह बांध 119.61 मीटर ऊंचाई के स्तर तक भरा है। बांध की कुल संग्रह क्षमता 9460 एमसीएम है, इसके मुकाबले फिलहाल 4862.29 एमसीएम पानी है।
नर्मदा समेत 20 बांधों में 50 फीसदी से अधिक संग्रह
प्रदेश के नर्मदा समेत 207 बांधों में से 20 बांधों में क्षमता के मुकाबले 50 फीसदी या उससे अधिक जल संग्रह शेष बचा हुआ है। इनमें नर्मदा बांध के अलावा राजकोट जिले के आजी-2 बांध, महिसागर का वाणकबोरी बांध, सुरेन्द्रनगर का धोलीधजा, कच्छ का कालाघोड़ा, गिरसोमनाथ का रावल, भरुच का धोली, नर्मदा जिले में करजण, जूनागढ़ में हासनपुर, राजकोट जिले में लालपरी, अमरेली में खोडियार, मोरबी में मच्छु-2, राजकोट में आजी-1, तापी में उकाई, अमरेली जिले में मंजीसर, जामनगर में विजारखी, भावनगर में रंघोला, पोरबंदर में फोदरनेस, जामनगर में पूना, राजकोट जिलेमें भादर-2 बांध हैं।
इन 20 बांधों में एक फीसदी से भी कम संग्रह

स्कीम नाम पानी
(फीसदी)
सारण बांध 00
सूरजवाड़ी 00
निम्बमनी 00
प्रेमपरा बांध 00
सैनी बांध 00
कालिया बांध 00
भीमदाद बांध 00
अमीपुर बांध 00
रूपावती बांध 0.01
राणा खीरासरा 0.01
साबूरी बांध 0.04
गढाकी बांध 0.05
मोरसाई बांध 0.10
वत्रु-1 बांध 0.12
सोनमती बांध 0.17
कानियाद बांध 0.26
सीपू बांध 0.44
सिंधानी बांध 0.45
कासवटी बांध 0.71
बंगावाड़ी बांध 0.87

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवारIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोहरियाणा में निकली 6600 फीट लंबी तिरंगा यात्रा, मनाया जा रहा आजादी के अमृत महोत्सव का जश्नIndependence Day 2022: लालकिला छावनी में तब्दील, जमीन से आसमान तक काउंटर-ड्रोन सिस्टम से निगरानी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.