अतिवृष्टि के कारण नुकसान को लेकर केन्द्र से मांगी रकम गुजरात को नहीं मिली

केन्द्र के समक्ष 2094.92 करोड़ के रकम की मांग की थी

By: Uday Kumar Patel

Published: 13 Mar 2018, 11:11 PM IST

गांधीनगर. राज्य सरकार को वर्ष 2017 में अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान को लेकर केन्द्र सरकार से मांगी गई रकम अब तक नहीं मिल सकी है। सिद्धपुर से कांग्रेस विधायक चंदनजी ठाकोर की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में राजस्व मंत्री कौशिक पटेल ने सदन को यह जानकारी दी।
राज्य सरकार ने यह बताया कि राज्य सरकार ने अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान को लेकर केन्द्र के समक्ष 2094.92 करोड़ के रकम की मांग की थी। 31 दिसम्बर 2017 की स्थिति के मुताबिक केन्द्र सरकार की ओर से इस मांग पर विचार किया जा रहा है।
उधर इसी से जुड़़े कांग्रेस विधायक किरीट पटेल के इस सवाल पर राजस्व मंत्री ने बताया कि राज्य में जून और जुलाई 2015 में अतिृवृष्टि के कारण हुए नुकसान को लेकर केन्द्र सरकार ने 4473.47 करोड़ रकम मांगी थी। लेकिन यह रकम भी अब तक नहीं मिल सकी।
इसका कारण यह बताया गया कि केन्द्र सरकार की एनडीआरएफ की उच्च स्तरीय समिति ने 9 नवम्बर 2015 की बैठक में 561.82 करोड़ की मदद एनडीआरएफ से कुछ शर्त पर मंजूर करने का निर्णय लिया था।
इस शर्त के तहत राज्य सरकार की एसडीआरएफ की शेष रकम की 50 फीसदी या मंजूर की गई मदद, एसडीआरएफ की शेष रकम से 50 फीसदी से कम हो, ऐसी स्थिति में मदद मंजूर की जाती है। राज्य सरकार की एसडीआरएफ की शेष रकम अप्रेल 2015 को 3082.26 करोड़ थी जिसका 50 फीसदी 1541.13 करोड़ होता है। इससे मंजूर की गई रकम 561.82 करोड़ कम होती है, इसलिए केन्द्र सरकार की ओर से राज्य सरकार को कोई रकम मिलना नहीं होता।

गैरकानूनी कब्जे को लेकर आसाराम आश्रम से 21 हजार की रकम वसूली

गांधीनगर. राज्य सरकार ने विधानसभा को यह बताया है कि अहमदाबाद के आसाराम आश्रम की गैरकानूनी रूप से कब्जे की गई जमीन का कब्जा ले लिया है।
कांग्रेस विधायक पूंजा वंश की ओर से लिखित सवाल के जवाब में राजस्व मंत्री कौशिक पटेल की ओर से यह जवाब दिया गया। मंत्री के मुताबिक 31 दिसम्बर 2017 तक की स्थिति के अनुसार राज्य सरकार ने यह जमीन अपने अधीन ले ली है। आसाराम आश्रम को गैरकानूनी रूप से कब्जे की गई जमीन के उपयोग के बदले 21,356 रुपए का दंड किया गया।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned