'राज्य में पांच वर्ष में शेरों की संख्या में हुआ 29 फीसदी का इजाफा'

Gujarat state, lions, forest, wild animal, system, automatic,; वन्य प्राणी सृष्टि की विविधता के लिए बेहतर आयोजन: सीएम, वन विभाग ने कार्यरत किया ऑटोमैटिक रिस्पॉन्स सिस्टम

By: Pushpendra Rajput

Updated: 08 Oct 2021, 09:05 PM IST

गांधीनगर. मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल ने कहा कि देश का गौरव गिर के शेरों की आबादी मौजूदा समय में लगभग 674 तक पहुंच गई है। 2015 के मुकाबले 2020 में शेरों की आबादी में 28.87 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। वन विभाग की ओर से प्रतिवर्ष गांधी जयंती 2 अक्टूबर से एक सप्ताह के लिए यानी 8 अक्टूबर तक मनाए जाने वाले राज्यव्यापी वन्य प्राणी सप्ताह के समापन पर शुक्रवार को गांधीनगर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शिरकत कर उन्होंने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि वन विभाग ने वन्य जीवों के ट्रैकिंग सिस्टम को ज्यादा मजबूत बनाने के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग किया है। रेडियो कॉलर सिस्टम, ट्रैकिंग डिवाइस और जीपीएस युक्त वाहन सुविधा, घायल वन्य जीव के उपचार के लिए रेस्क्यू सेंटर और एनीमल केयर एंबुलेंस जैसी तकनीक युक्त सुविधाएं सरकार ने विकसित की हैं।

खुले कुओं पर बनवाई पैरापीट
उन्होंने कहा कि वन क्षेत्रों में मौजूद खुले कुओं के कारण अक्सर दुर्घटनावश वन्य जीवों की अप्राकृतिक मौत हो जाती है। इसे रोकने के लिए सरकार ने गिर जंगल क्षेत्र में खुले कुओं पर पैरापीट यानी रेलिंग या दीवार के निर्माण के लिए पांच वर्ष में 16 करोड़ रुपए का खर्च किया है।

पटेल ने कहा कि वेलावदर कालियार राष्ट्रीय उद्यान में लेसर फ्लोरिकन ब्रीडिंग कार्यक्रम शुरू किया है। गंभीर रूप से संकटग्रस्ट श्रेणी के अंतर्गत आने वाले पक्षियों के साइंटिफिक डेटा प्राप्त करने के उद्देश्य से टैगिंग सिस्टम विकसित किया है। इतना ही नहीं, वन्य प्राणी से संबंधित मसलों या जनता की जरूरत के समय सहायता के लिए चौबीस घंटे सातों दिन ऑटोमैटिक रिस्पॉन्स सिस्टम कार्यरत किया गया है। कोई भी व्यक्ति केवल एक एसएमएस या वॉट्सएप कर अपने क्षेत्र के नजदीक के वन अधिकारी या कर्मी से संपर्क स्थापित कर जानकारी या मदद हासिल कर सकता है।

राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री किरीटसिंह जी राणा जामनगर से तथा राज्यभर के 583 स्थलों से जनप्रतिनिधि, पदाधिकारी एवं वन प्रेमी, वन्य जीव प्रेमी, स्वैच्छिक संस्थाएं, वन कर्मी व अधिकारी तथा विद्यार्थी 'बायसेगÓ सेट कॉम के माध्यम से इस समारोह में शामिल हुए।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned