Gujarat: रूपाणी ने कहा, स्वामी विवेकानंद हैं युवाओं के रोल मॉडल

Gujarat, Swami Vivekanand, Youth, Role Model, CM Vijay Rupani,

By: Uday Kumar Patel

Published: 12 Jan 2021, 09:43 PM IST

राजकोट/अहमदाबाद. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि गुजरात ने कौशल विकास कार्यक्रम, एप्रेंटिसशिप योजना, युवा स्वावलंबन योजना और शोध योजना के जरिए राज्य के युवाओं का सशक्तिकरण किया है। पिछले 4 वर्ष में लगभग डेढ़ लाख युवाओं को सरकारी नौकरी प्रदान की है। लगभग 5400 भर्ती मेलों के मार्फत निजी क्षेत्र में 12 लाख से अधिक नौकरियां उपलब्ध करवाई हैं। हजारों युवाओं को व्यवसाय करने के लिए कर्ज प्रदान कर उन्हें नौकरी प्राप्त करने की जगह नौकरी देने वाला बनाया है। गुजरात में बेरोजगारी की दर देश में सबसे कम 3 फीसदी है।
मुख्यमंत्री ने स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर सौराष्ट्र विवि के विभिन्न भवनों का मंगलवार को ई-लोकार्पण और ई-शिलान्यास करते हुए यह बात कही।

मुख्यमंत्री ने 25 हजार से अधिक युवा छात्रों की ओर से कार्यक्रम में पंजीकरण कराने का जिक्र करते हुए कहा कि भले ही डेढ़ सौ वर्ष बीत गए हों, लेकिन आज भी स्वामी विवेकानंद युवाओं के रोल मॉडल हैं। रूपाणी ने युवाओं को निरंतर नया विचार करने और नया करते रहने की सीख देते हुए कहा कि यदि कभी क्षणिक विफलता मिले तो स्वामी विवेकानंद जी के संदेश का अनुसरण करें। गुजरात के लोगों के लिए गर्व की बात यह है कि स्वामी जी को पश्चिम में जाने की प्रेरणा गुजरात की भूमि में मिली थी।

भारत में बनी वैक्सीन की डेढ़ सौ से अधिक देशों ने मांगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘आत्मनिर्भर भारत’ की राह पर अग्रसर हमारे देश ने दुनिया की सभी धारणाओं को झुठलाते हुए एक नहीं बल्कि दो-दो स्वदेशी वैक्सीन उपलब्ध कराकर अपने सामथ्र्य का परिचय दिया है। भारत में बनी वैक्सीन के लिए आज डेढ़ सौ से अधिक देशों ने मांग की है। यह ताकत देश के युवा वैज्ञानिकों की है। उन्होंने कहा कि देश के युवाओं के लिए ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान बहुत बड़ा अवसर है। भारत को महासत्ता बनाने की दिशा में अपनी शक्ति और सामथ्र्य का उपयोग कर हमारे युवा बहुत बड़ा योगदान दे सकते हैं।

विदेशी विद्यार्थियों के लिए सुविधा

मुख्यमंत्री ने सौराष्ट्र विवि परिसर में अध्ययन कर रहे विदेशी विद्यार्थियों के उपयोग के लिए 4 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित ‘इंटरनेशनल ट्रांजिट हाउस’ तथा सरस्वती वुमन हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं को पढऩे की सुविधा के लिए स्वाध्याय परिवार के प्रणेता पांडुरंग शास्त्री दादा की चेयर की ओर से निर्मित लाइब्रेरी का ई-लोकार्पण किया। 6 करोड़ रुपए के खर्च से तैयार होने वाली अद्यतन लाइब्रेरी और 3 करोड़ रुपए की लागत से तैयार होने वाले अत्याधुनिक स्पोर्ट्स हॉस्टल तथा सवा करोड़ रुपए के खर्च से तैयार होने वाले ओपन एयर थियेटर का भी उन्होंने ई-शिलान्यास किया। रूपाणी ने कोरोना महामारी के दौरान सौराष्ट्र विवि की राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) की टीम की ओर से किए गए सेवा कार्यों को बयान करने वाली पुस्तक का विमोचन भी किया।
इस अवसर पर सौराष्ट्र विवि के कुलपति नितिन पेथाणी, उप कुलपति विजय देसाणी सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी इंटरनेट के जरिए जुड़े थे।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned