तौकते से निपटने की तैयारियों में जुटा गुजरात

Gujarat, Tauktae, CM rupani, core committee, meeting, NDRF, alert, covid 19, electricity, Fishing boat, -सीएम की अध्यक्षता में कोर कमेटी की बैठक, -एनडीआरएफ की टीमें पहुंचने लगी, तैनाती भी शुरू

By: nagendra singh rathore

Published: 15 May 2021, 09:55 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात के कच्छ व सौराष्ट्र के समुद्री इलाके से चक्रवात तौकते के १८ मई को टकराने की आशंका के बीच गुजरात इससे निपटने की तैयारियों में जुट गया है।
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि इससे प्रभावित होने वाले कच्छ-सौराष्ट्र के सभी 14 जिलों के कलक्टरों को अलर्ट रहने और किसी भी व्यक्ति की जान न जाए उस तरह से तैयारी करने का निर्देश दिया है। एनडीआरएफ की टीमों का आगमन भी गुजरात में शुरू हो गया है। इनकी तैनाती भी शुरू हो गई है। शनिवार शाम को सीएम ने कोर कमेटी की बैठक में तौकते को लेकर तैयारियों की समीक्षा की। कोविड गाइड लाइन की पालन हो और कोरोना मरीजों को दिक्कत ना हो इसलिए अस्पतालों में एवं जिलों में बिजली जाने पर इन्वर्टर, जनरेटर या डीजल इंजन के जरिए बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।
सूत्रों के अनुसार गुजरात में एनडीआरएफ की करीब ५४ टीमों को बुलाया गया है। इन्हें अलग अलग क्षेत्रों में तैनात किया जाएगा। २४ घंटे कंट्रोलरूम अभी से शुरू कर दिया है। निचले हिस्सों से लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजने की तैयारी शुरू हो गई है। चक्रवात के दौरान बिजली के जाने की स्थिति में जनरेटर और अन्य सुविधाओं को सुनिश्चित किया जा रहा है।

जामनगर के बंदरगाहों पर दो नंबर का सिग्नल, ४२ बोट लौटीं
जामनगर संवाददाता के अनुसार तौकते चक्रवात के चलते जामनगर के सभी सातों बंदरगाहों पर दो नंबर का सिग्नल लगा दिया गया है। इनमें नवाबंदर, बेड़़ी, रोजी, सिक्का, सचाणा, जोडिया और सलाया बंदरगाह शामिल हैं। मछली पकडऩे के लिए समंदर में गईं 1०७ में से ४२ बोट लौट आई हैं। अन्य ६५ को वापस लाने के लिए कोशिश की जा रही है।

कच्छ में एनडीआरएफ की दो, एसडीआरएफ एक टीम तैनात
भुज संवाददाता के अनुसार कच्छ जिले के समुद्र तट से तौकते के टकराने की आशंका है जिसके देखते हुए 17 मई तक सात तहसील के 123 गांव में निचले हिस्सों में रहने वाले सभी लोगों, मछुआरों को सुरक्षित जगह पर स्थानांतरित करने और सचेत रहने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। शनिवार को कलक्टर की अध्यक्षता में तैयारियों की समीक्षा बैठक हुई। जिले में एनडीआरएफ की दो और एसडीआरएफ की एक टीम तैनात की गई है। कच्छ के कंडला और मुन्द्रा पोर्ट पर भी व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। जखौ बंदरगाह पर भी सुरक्षा बरती जा रही है। मछुआरों को वापस बुलाया जा रहा है।

राजकोट जिले में हाईअलर्ट, एनडीआरएफ की दो टीमें
राजकोट संवाददाता के अनुसार तौकते से निपटने के लिए जिले में हाईअलर्ट घोषित किया है। सभी अधिकारियों कर्मचारियों की छुट्टी रद्द कर दी है। एनडीआरएफ की दो टीमें तैनात की हैं, जिसमें एक घंटेश्वर इलाके में और दूसरी गोल्डन एसआरपी कैम्प में रखा है। इस दौरान कोरोना मरीजों को परेशानी ना हो उसका भी ध्यान रखने को कहा है।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned