'गुजरात के 30 जिलों और 2409 गांवों के किसानों को मिलेगी दिन में बिजली'

Gujarat, villages, farmers, electric city, energy minister, sarvoday: किसान सर्वोदय योजना के तहत..

By: Pushpendra Rajput

Published: 30 Dec 2020, 10:07 PM IST

गांधीनगर. गुजरात के ऊर्जा मंत्री (energy minister) सौरभ पटेल ने कहा है कि राज्य के 30 जिलों के 2409 और गांवों को दिन में बिजली (electric city) मुहैया कराई जाएगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime minister narendra modi) ने 24 अक्टूबर को जूनागढ़ से वच्र्युअली (virtually) 3500 करोड़ रुपए की किसान (farmers) सूर्योदय योजना का प्रारंभ किया था, जिसमें प्रथम चरण में दाहोद, जूनागढ़ और गिर सोमनाथ के 1055 गांवों के एक लाख किसान लाभान्वित हुए। आगामी समय में राज्य के सभी किसानों को इस योजना के जरिए दिन में बिजली आपूर्ति करने की योजना है। किसानों के हितों में काम करने वाली राज्य सरकार ने कई अहम निर्णय किए हैं, जिसमें किसानों को दिन में बिजली आपूर्ति करने का यह भी अहम निर्र्णय है।
उन्होंने कहा कि किसानों की इस महत्वाकांक्षी किसान सूर्योदय योजना का मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ३ जनवरी को सोमनाथ के ऊना, 5 जनवरी को अरवल्ली के बायड और 7 जनवरी को नर्मदा जिले के तिलकवाडा और 9 जनवरी को महीसागर के लुनावाड में प्रारंभ कराएंगे। दूसरे चरण में राज्य के 30 जिलों के 150 तहसीलों के 2409 गांवों के करीब 1.90 लाख किसानों को दिन में बिजली आपूर्ति की जाएगी, जिसमें उत्तर गुजरात बिजली कम्पनी के छह जिले, पश्चिम गुजरात बिजली कंपनी के 12 जिले, दक्षिण गुजरात बिजली कम्पनी के छह जिले और मध्य गुजरात बिजली कंपनी के के तहत छह जिले शामिल किए जाएंगे, जिसमें 883 फीडरों के जरिए किसानों को बिजली आपूर्ति की जाएगी। इसके लिए 375 मेगावॉट बिजली की आवश्यकता होगी।
ऊर्जा मंत्री पटेल ने कहा कि राज्य में मौजूदा समय में 153 ग्रुप हैं, जिसमें आधे ग्रुप में दिन और आधे गु्रप को रात में बिजली की जाती है। अब इस योजना के तहत सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक बिजली आपूर्ति की जाएगी। सौर ऊर्जा सिर्फ दिन में उपलब्ध होती है। आगामी समय में सौर ऊर्जा की उत्पादन क्षमता बढऩे ऊर्जा की उपलब्धता बढ़ेगी। राज्य में मौजूदा समय में 17.25 लाख से ज्यादा कृषि विद्युत उपभोक्ता हैं, जिसे 153 समूहों में विभाजित कर 8400 से ज्यादा 11 किलोवॉट के कृषि फीडरों के जरिए बिजली आपूर्ति की जाती है। इन समूहों को 24 घंटे में तीन शिफ्ट में थ्री- फेज बिजली आपूर्ति होती है और 24 घंटे सिंगल फेज से बिजली आपूर्ति होती है। किसानों को रात्रि में बिजली आपूर्ति होने से हमेशा जीव-जंतुओं और जानवरों का भय बना रहता और दिक्कतें भी होती हैं। पिछले काफी समय से दिन में बिजली आपूर्ति की मांग उठी थी। अगले तीन वर्षों में राज्य सरकार (Gujarat government) राज्यभर में किसानों को दिन में बिजली आपूर्ति कर देगी। वर्ष 2020-21 के बजट में आगामी वर्षों के लिए 3500 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया। आगामी समय में 520 करोड़ रुपए की लागत से 11 नए 220 किलोवॉट के सब स्टेशन, 2444.94 करोड़ रुपए की लागत से 254 नए 220/132/66 किलोवॉट की लाइन स्थापित की जाएगी।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned