scriptप्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल में गुजरात का दबदबा बरकरार, 6 सांसदों ने ली शपथ, 5 कैबिनेट, एक राज्यमंत्री | Patrika News
अहमदाबाद

प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल में गुजरात का दबदबा बरकरार, 6 सांसदों ने ली शपथ, 5 कैबिनेट, एक राज्यमंत्री

मनसुख मांडविया ने तीसरी बार मंत्री पद की शपथ ली। अमित शाह, डॉ.जयशंकर, जे पी नड्डा ने दूसरी बार जबकि सी आर पाटिल, नीमूबेन बांभणिया पहली बार मंत्री बने हैं।

अहमदाबादJun 09, 2024 / 10:50 pm

nagendra singh rathore

Amit Shah

कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेते गांधीनगर से सांसद अमित शाह।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को भारत के प्रधानमंत्री के रूप में तीसरी बार पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। उनके मंत्रिमंडल में गुजरात का दबदबा बरकरार है। गुजरात राज्य से छह सांसदों ने मंत्री पद की शपथ ली है। इसमें 5 कैबिनेट मंत्री व एक को राज्य मंत्री बनाया गया है। कैबिनेट मंत्रियों में अमित शाह (59), जेपी नड्डा (69), डॉ.एस जयशंकर (69) , मनसुख मांडविया (52) और सी आर पाटिल (69) शामिल हैं। राज्यमंत्री के रूप में नीमूबेन बांभणिया (57) ने शपथ ली है। मांडविया जहां लगातार तीसरी ूबार मंत्री बने हैं, वहीं शाह, नड्डा, जयशंकर ने दूसरी बार मंत्री पद की शपथ ली है।
गुजरात प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालने वाले एवं नवसारी लोकसभा सीट से चौथी बार सांसद चुने गए सी आर पाटिल (69), भावनगर सीट से चुनकर लोकसभा पहुंची नीमूबेन बांभणिया (57) ने पहली बार मंत्री पद की शपथ ली।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पहले 2014 से 2019 तक के कार्यकाल में गुजरात से सात सांसद मंत्रिमंडल में शामिल थे। मोदी के दूसरे 2019 से 2024 के कार्यकाल में भी उनके मंत्रिमंडल में गुजरात से सात सांसद शामिल थे। 2024 में जब उनका तीसरा कार्यकाल शुरू हो रहा है तब गुजरात के छह सांसद मंत्री बने हैं।
गुजरात की लोकसभा में 26 सीटें है, लेकिन उनके गृह राज्य का उनके मंत्रिमंडल में दबदबा बरकरार रहता है। इस बार भाजपा ने राज्य की 26 में से 25 सीटें जीती हैं। देश में भी भाजपा को 2019 की 303 तुलना में कम केवल 240 सीटें ही मिली हैं। पूर्ण बहुमत नहीं मिलने से उनके मंत्रिमंडल में भाजपा के मंत्रियों की संख्या कम हुई है। ऐसे में संभावना जताई जा रही थी कि गुजरात से भी मंत्रियों की संख्या कम होगी।

परषोत्तम रूपाला, देवू सिंह का कटा पत्ता

मोदी मंत्रिमंडल में लगातार दो बार मंत्री रहने वाले उनके करीबी नेता परषोत्तम रूपाला इस बार राजकोट सीट से रेकॉर्ड 4.84 लाख मतों से जीतकर सांसद तो बन गए, लेकिन उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया। खेड़ा सीट से 3.57 लाख जीत की हैट्रिक लगाने वाले देवू सिंह चौहाण को भी मंत्री पद से हाथ धोना पड़ा। रूपाला और चौहान को क्षत्रिय समाज की नाराजगी के चलते मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई। पिछली सरकार में मंत्री रहे डॉ महेंद्र मुंजपरा और दर्शना जरदोश को इस बार टिकट नहीं दिया गया था।

कैबिनेट मंत्री बने मांडविया, शाह, नड्डा, जयशंकर, पाटिल

कैबिनेट मंत्री बनने वालों में गुजरात से पांच सांसद हैं। इसमें अमित शाह, जहां गांधीनगर से लोकसभा सांसद हैं। वहीं दो सांसद राज्य सभा से हैं। इसमें जे पी नड्डा और डॉ.एस.जयशंकर शामिल हैं। जयशंकर और नड्डा भी दूसरी बार मंत्री बने हैं। जे पी नड्डा गुजरात से राज्यसभा सांसद के रूप में पहली बार मंत्री बने हैं। हालांकि 2014 में वे मोदी सरकार में मंत्री रह चुके हैं। डॉ.एस.जयशंकर और अमित शाह 2019 में कैबिनेट मंत्री थे। शाह गृह एवं सहकारिता मंत्री जबकि जयशंकर विदेशमंत्री थे। इसके अलावा नवसारी से सांसद सी आर पाटिल ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली है। मनसुख मांडविया ने तीसरी बार मंत्री के रूप में शपथ ली है।

Hindi News/ Ahmedabad / प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल में गुजरात का दबदबा बरकरार, 6 सांसदों ने ली शपथ, 5 कैबिनेट, एक राज्यमंत्री

ट्रेंडिंग वीडियो