'मंत्री कब मिलेंगे जनता से, कब सुनेंगे उनकी फरियाद'

Gujarrat congress, BJP president, Ministers, complain, BJP workers : मंत्रियों के 'कमलम्Ó में हाजरी को लेकर कांग्रेस ने कसा तंज

By: Pushpendra Rajput

Published: 23 Aug 2020, 09:49 PM IST

गांधीनगर. गुजरात (Gujarat) की भाजपा सरकार (BJP government) के शासन में जनता के काम तो होते नहीं हैं। अब कार्यकर्ताओं (workers) के भी काम नहीं होते। इसके चलते ही कार्यकर्ताओं के कार्यों के लिए मंत्री (Ministers) कमलम् (kamlam) में उपस्थित होंगे। ऐसा लगता है कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष (BJP president) का यह आदेश हकीकत में उनकी पार्टी के विफल शासन का कबूलनामा है। गुजरात की जनता के कार्यों और उनकी शिकायतों को लेकर सचिवालय में विभाग वार मंत्री कब उनसे मिलेंगी। गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के मुख्य प्रवक्ता मनीष दोशी ने भाजपा सरकार पर यह सवाल दागा।

उन्होंने भाजपा सरकार प्रहार करते कहा कि गुजरात में पिछले 20 वर्षों से ज्यादा समय से भाजपा सत्ता पर काबिज है, लेकिन गुजरात को दरकिनार कर दिया है। राज्य में किसान कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों में अनेक समस्याओं को सामना कर रहे हैं। विकास के नाम पर ठेकेदारों और बिचौलियों, विशेष सुविधा वालों के लिए सचिवालय के दरवाजे खुले हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि गांव से लेकर गांधीनगर और शहर से लेकर सचिवालय तक भ्रष्टाचार पनप रहा है। भाजपा सरकार की नीतियों के चलते किसान, शिक्षित बेरोजगार, कर्मचारी, महंगी शिक्षा के चलते अभिभावक परेशान का सामना कर रहे है। फिक्स वेतन, आउटसोर्सिंग, ठेके पद्धति के नाम पर गुजरात के लाखों युवा और कर्मचारियों का आर्थिक शोषण कब बंद होगा। गुजरात के युवा सचिवालय में मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री , श्रम मंत्रियों से कब मिल सकेंगे। गुजरात के लाखों सामान्य और मध्यमवर्गीय लोगों को उनकी समस्याएं सुनने के लिए कब समय मिलेगा?

BJP president
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned