Gujrat congress: 'कोरोना बना विकराल, निजी अस्पताल व चिकित्सकों की लें सेवा'

Gujrat congress, corona, private hospital, doctors, services : कांग्रेस शिष्टमंडल ने मुख्य सचिव से की मांग

By: Pushpendra Rajput

Published: 28 May 2020, 08:32 PM IST

गांधीनगर. अब कोरोना (Corona) महामारी ने विकराल बन चुकी है। ऐसे में निजी अस्पताल (private hospital)और चिकित्सकों (Doctors) की सेवा लेना अनिवार्य हो गया है। वहीं सभी सरकारी अस्पतालों (Government hospitals) में कोरोना को छोड़कर कैंसर, हृदय, किडनी, हाइपर टेन्शन (hyper tension) जैसी बीमारियों को पुन: उपचार शुरू करना चाहिए। गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के एक शिष्टमंडल ने ज्ञापन देकर गुजरात के मुख्य सचिव अनिल मुकीम से मिलकर ये मांगें की है। इस शिष्टमंडल (delegation) में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शैलेष परमार, विधायक हिम्मतसिंह पटेल, ग्यासुद्दीन शेख और गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के महामंत्री निशित व्यास शामिल थे।
उन्होंने ज्ञापन में कहा है कि अहमदाबाद शहर में जिनको मान्यता दी गई है, ऐसे कोरोना का उपचार करने वाले निजी और सरकारी अस्पतालों में बेड की संख्या, रिक्त बेड की उपलब्धता और आईसीयू वेन्टीलेटर की जानकारी ऑनलाइन बतानी चाहिए। नोडल अधिकारी के तौर पर महानगरपालिका के डिप्टी आयुक्त की नियुक्ति कर हेल्पलाइन शुरू करनी चाहिए। अहमदाबाद शहर में कोविड नामांकित निजी अस्पतालों में गरीबों और मध्यमवर्गीय परिवारों के कोरोना संक्रमित मरीजों को भर्ती करने में भेदभाव नीति अपनाई जा रही है। निजी अस्पतालों में ऐसे गरीब और मध्यमवर्गीय परिवारों के कोरोना संकमित मरीजों का नि:शुल्क उपचार होना चाहिए।
ज्ञापन में कहा गया है कि अहमदाबाद के सरकारी अस्पतालों में कोरोना का कोई भी संदिग्ध मरीज भर्ती होने जाता है तो उसके लक्षणों के आधार पर पहले उसे संदिग्ध मरीज के तौर पर भर्ती किया जाता है। बाद में यदि कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आती है तो तो उसे कोरोना पॉजिटिव बार्ड में भर्ती कर उपचार किया जाता है। लेकिन शहर की 42 निजी अस्पतालों में संदिग्ध मरीज को भर्ती करने या उनकी जांच करने की कोई भी व्यवस्था नहीं है। इन अस्पतालों में कोई संदिग्ध भर्ती होना जाता है तो उसे न तो भर्ती किया जाता है और न ही उसकी जांच की जाती है। विलंब होने से मरीज जिन्दगी खतरे में पड़ जाती है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned