पाटीदारों को आरक्षण के लिए प्राइवेट बिल लाने की मांग

हार्दिक ने नेता प्रतिपक्ष से की मुलाकात..., धानाणी ने किया स्वीकार, सवर्णों को 20 फीसदी आरक्षण के लिए २०१६ में लाए थे बिल

अहमदाबाद. पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के मुख्य संयोजक हार्दिक पटेल ने बुधवार दोपहर को पास संयोजक व कार्यकर्ताओं के साथ गुजरात विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी से गांधीनगर में मुलाकात की। हार्दिक पटेल ने परेश धानाणी से मुलाकात कर पाटीदारों को आरक्षण दिलाने के लिए आगामी विधानसभा सत्र में कांग्रेस की ओर से प्राइवेट बिल लाने की मांग की।
हार्दिक का कहना है कि उनकी मांग पर परेश धानाणी ने पाटीदारों को आरक्षण के लिए एवं आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को 20 प्रतिशत आरक्षण दिलाने की मांग के लिए एक बिल आगामी गुजरात विधानसभा में लाने की मांग का स्वीकार किया है।
हार्दिक ने कहा कि महाराष्ट्र में मराठाओं को ओबीसी आयोग की सिफारिश के बाद आरक्षण देने को लेकर वहां की विधानसभा में विधेयक पारित किया गया है। उनकी ओर से गुजरात में पाटीदारों को ओबीसी आरक्षण दिलाने की मांग के लिए तीन साल से भी ज्यादा समय से आंदोलन किया जा रहा है,लेकिन इस दिशा में कोई प्रगति नहीं हुई। जबकि महाराष्ट्र और गुजरात में एक ही पार्टी की सरकारें हैं। फिर भी पाटीदारों को आरक्षण देने के नाम पर अलग अलग प्राथमिकताएं हैं।
हार्दिक ने कहा कि पाटीदारों को आरक्षण दिलाने के लिए सरकार के साथ विपक्षी दल कांग्रेस को भी घेरा जाएगा। साथ ही ओबीसी आयोग में भी सर्वे के लिए कोशिश की जा रही है। सभी मोर्चों पर प्रयास किए जाएंगे।
परेश धानाणी ने हार्दिक से मुलाकात के बाद संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस पार्टी के विधायकों की ओर से दो साल पहले १८ फरवरी २०१६ को गुजरात विधानसभा में गैर आरक्षित वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लोगों को नौकरी व शिक्षा में 20 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग वाले बिल को लाया गया था। आगे भी प्रयास किया जाएगा। कोशिश की जाएगी कि पहले लाए गए बिल पर आगामी विधानसभा सत्र में चर्चा हो।

Congress
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned