हार्दिक का अल्टीमेटम, २४ घंटे में बातचीत नहीं तो जल त्याग

हार्दिक का अल्टीमेटम, २४ घंटे में बातचीत नहीं तो जल त्याग

nagendra singh rathore | Publish: Sep, 05 2018 10:57:13 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

सीधे छावनी में आकर की जाए वार्ता, सिर्फ तीन ही हैं मांग,
गुरुवार से सभी विधायकों को समर्थन को फोन

अहमदाबाद. पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के मुख्य संयोजक हार्दिक पटेल ने अनशन के 12वें दिन बुधवार रात को सरकार को अनशन मामले में समाधान के लिए तैयारी दर्शाते हुए बातचीत करने के लिए २४ घंटे का अल्टीमेटम दिया है। इस दौरान बातचीत शुरू नहीं करने पर फिर से जल त्याग करने की घोषणा की है। इसके परिणामों के लिए सरकार के जिम्मेदार होने की भी बात कही। मीडिया के जरिए या फिर अन्य किसी भी व्यक्ति, संस्था के जरिए बातचीत ना करके सीधे हार्दिक के अनशन स्थल पर आकर बातचीत करने की मांग हार्दिक की ओर से की गई है।
बुधवार रात को पास के संयोजक मनोज पनारा ने हार्दिक की ओर से की गई इन मांगों से संवाददाताओं को अवगत कराया। पनारा ने कहा कि हार्दिक की सिर्फ तीन मांगें हैं। किसानों की संपूर्ण कर्ज माफी, पाटीदार समाज को आरक्षण और पास संयोजक अल्पेश कथीरिया की रिहाई। ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल की ओर दिए गए राजनीतिक तरीके से अनशन के समाधान के बयान की हार्दिक ने निंदा की है। पास भी निंदा करती है। दो दिनों से सौरभ पटेल व भाजपा प्रवक्ताओं की ओर से चिंता, मध्यस्थता, समाधान, पारणा सरीखे शब्दों का उपयोग करके पाटीदार समाज को गुमराह किया जा रहा है। अब तक ना तो हार्दिक, ना ही पास से किसी प्रकार की बातचीत की गई है।
पास ने इसके साथ ही ऐलान किया कि गुरुवार से १८२ विधायकों को पास व पाटीदारों की ओर से हार्दिक पटेल की अनशन के मुद्दों पर वह सहमत हैं या नहीं इसके लिए फोन किया जाएगा। इसकी रिकॉर्डिंग हार्दिक को भेजी जाएगी। सात सितंबर को हार्दिक के बेहतर स्वास्थ्य की कामना के लिए सिदसर, गांठीला, कागवड़ और उमिया धाम ऊंझा में प्रार्थना व आरती की जाएगी।
आठ सितंबर को सभी 182 विधायकों , २६ सांसदों के घर जाकर हार्दिक की मांगों के समर्थन में उनकी लिखित राय व हस्ताक्षर लिए जाएंगे। नौ सितंबर को पाटण के खोडल माता मंदिर से उमा खोडल का रख ऊंझा ले जाया जाएगा। कर्ज माफी, आरक्षण मिले ऐसी प्रार्थना की जाएगी।

वजन पर विवाद !
हार्दिक के अनशन के 12वें दिन हार्दिक पटेल के वजन को लेकर विवाद हो गया। बुधवार को हार्दिक का वजन ६६ किलोग्राम आया, जबकि 11वें दिन मंगलवार को वह ५८ किलोग्राम ही था। एक साथ आठ किलोग्राम वजन बढऩे पर सोला सिविल अस्पताल की टीम ने तकनीकी खामी को जिम्मेदार बताया। तीन कांटों से वजन किया। तीनों में अलग अलग वजन आया। पल्स, बीपी, सुगर की जांच की। पेशाब और रक्त के नमून देने से इनकार कर दिया। इस हिसाब से हार्दिक का कुल वजन 12 किलो घटा है।

Ad Block is Banned