सूरत का महर्ष दे गया साक्षिता को जीवन रूपी धड़कन

कोरोना की विपरीत परस्थितियों में महिला का सफल हृदय ट्रान्सप्लान्ट

By: Omprakash Sharma

Published: 10 Jul 2020, 09:40 PM IST

अहमदाबाद. सूरत में सड़क दुर्घटना में ब्रेन डेड हुए 24 वर्षीय महर्ष पटेल जाते-जाते अहमदाबाद निवासी महिला को नया जीवन दे गए हैं। उनका हृदय अहमदाबाद की साक्षिता जैन को प्रत्यारोपित किया है। कोरोना की विपरीत स्थितियों के बीच किया गया ट्रान्सप्लान्ट सफल रहा है।
सूरत निवासी महर्ष पटेल पांच छह दिन पूर्व अपने मित्र के साथ कार में जा रहे थे। उस दौरान सड़क दुर्घटना होने के कारण यह युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था। उपचार के लिए भर्ती किया गया, जहां चिकित्सकों ने ब्रेन डेड घोषित कर दिया था। ऑर्गन ट्रान्सप्लान्ट के लिए जागरूकता का काम करने वाली एक संस्था ने महर्ष के परिजनों से संपर्क किया तो उन्होंने हृदय समेत अंगों को दान में करने का निर्णय किया था।
अहमदाबाद के सिम्स अस्पताल के हार्ट ट्रान्सप्लान्ट टीम के निदेशक एवं एवं हार्ट ट्रान्सप्लान्ट सर्जन डॉ. डॉ. धीरेन शाह ने बताया कि महर्ष के परिजनों की ओर से इस संबंध में अस्पताल का संपर्क साधा। इसके बाद शुक्रवार सुबह सिम्स अस्पताल की टीम हृदय को लेकर अहमदाबाद आई। जिसे अहमदाबाद निवासी साक्षिता जैन (34) को ट्रान्सप्लान्ट किया गया। हाल में महिला की तबीयित स्थिर बताई गई है। सिम्स अस्पताल में यह दसवां हार्ट ट्रान्सप्लान्ट है। गुजरात का यह पहला अस्पताल है जहां हार्ट ट्रान्सप्लान्ट होते हैं। अस्पताल के अन्य ट्रान्सप्लान्ट सर्जन डॉ. धवल नायक के अनुसार कोविड के कारण विपरीत स्थिति में यह सफल ट्रान्सप्लान्ट हुआ है।

ट्रान्सप्लान्ट की प्रक्रिया 3.35 घंटे में हो गई पूरी
अस्पताल के डॉ. धीरेन शाह ने बताया कि सूरत से हृदय को चार्टर प्लैन से लाया गया था। ट्रान्सप्लान्ट होने और सूरत से हार्ट लाने में कुल 3.35 घंटे लगे थे। इस कार्य में डॉ. धीरेन शाह, डॉ. धवल नायक के अलावा डॉ. हीरेन धोलकिया, डा निरेन भावसार डॉ. चिन्तन शेठ भी जुड़े थे।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned