IIM-A: आईआईएम-अहमदाबाद में युवा पेशेवरों की संख्या में लगातार हो रहा है इजाफा

IIM-Ahmedabad, students, MBA program, Gujarat, diverse

By: Uday Kumar Patel

Published: 02 Aug 2020, 11:08 PM IST

अहमदाबाद. देश के साथ-साथ विश्व के प्रतिष्ठित बिजनेस स्कूलों में शामिल भारतीय प्रबंध संस्थान-अहमदाबाद( आईआईएम-ए) के एमबीए बैच में युवा पेशेवरों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

एमबीए के नए बैच (2020-22) में 21 से 25 वर्ष की आयु वाले विद्यार्थियों की संख्या 90 फीसदी रही वहीं 20 वर्ष तक की आयु वाले विद्यार्थियों की संख्या 3 फीसदी रही। वर्ष 2019-21 में 21 से 25 वर्ष की आयु वाले विद्यार्थियों की संख्या 87 फीसदी थी वहीं 2018-20 में यह संख्या 89 फीसदी थी।

उधर विश्व में एग्री बिजनेस एमबीए में शीर्ष माने जाने वाले पाठ्यक्रम एमबीए-एफएबीएम के 47 विद्यार्थियों के बैच में भी पिछले चार वर्षों से अलग-अलग बैकग्राउंड के विद्यार्थी प्रवेश ले रहे हैं। इस बार विज्ञान की बजाय इंजीनियरिंग बैकग्राउंड के ज्यादा विद्यार्थी हैं।

संस्थान के निदेशक प्रो. एरॉल डिसूजा ने रविवार को एमबीए के 2020-22 बैच व एमबीए-एफएबीएम के बैच का स्वागत किया। कोरोना के चलते यह कार्यक्रम ऑनलाइन आयोजित किया गया था। केन्द्र सरकार के दिशानिर्देशों के तहत ही संस्थान खोले जाएंगे। हालांकि ऑनलाइन क्लास शुरु किए जाएंगे।

विद्यार्थियों की विविधता से उनमें सीखने की प्रक्रिया और ज्यादा समृद्ध होती है। यह संस्थान इस तरह की विविधता में पूरा यकीन रखता है। इससे विद्यार्थियों के मूल्य, विचार, दृष्टिकोण पर प्रभाव पड़ता है और साथ ही इससे उनकी रचनात्मकता और प्रदर्शन में भी बढ़ोत्तरी होती है।

प्रो. एरॉल डिसूजा, निदेशक, आईआईएम-अहमदाबाद

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned