अहमदाबाद. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गांधीनगर के वार्षिक तकनीकी सम्मेलन Amalthea 2019 अमल्थिया में रविवार को दूसरे दिन कैमिकल के जरिए कार चलाई गई। ड्रॉन रेसिंग इस बार भी इस सम्मेलन के आकर्षण का केन्द्र रही।
दो दिनों में १३ से ज्यादा तकनीकी कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके अलावा टेक एक्सपो भी लगाया गया। जहां कई नई तकनीकों को प्रदर्शित किया गया। कॉन्क्लेव के जरिए अलग अलग क्षेत्रों के व्यक्तियों के वक्तव्य आयोजित किए गए। इसमें बड़ी संख्या में विद्यार्थियों ने शिरकत की।
इस सम्मेलन के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते समय आईआईटी निदेशक प्रो.सुधीर जैन ने कहा कि आईआईटी गांधीनगर युवाओं पर विश्वास रखती है। अमल्थिया युवा विद्यार्थियों के नेतृत्व का एक सफल और बेहतरीन उदाहरण है। खुशी की बात यह है कि उद्योग जगत भी युवाओं पर भरोसा करता है।इससे पहले कॉन्क्लेव में ब्रिटिश डिप्टी हाई कमिश्नर पीटर कुक ने क्रॉस कंट्री इंटलेक्च्युअल कोलोबरेशन पर अपने विचार व्यक्त किए। उसके बाद डीआरडीओ के पूर्व अध्यक्ष डॉ. एस.क्रिस्टोफर ने भारतीय वायुसेना की ताकत को बढ़ाने वाले 'नेत्रÓ की खूबी और इसे बनाने से लेकर इसकी उपयोगिता के बारे में बताया। इसके बाद सेक के पूर्व निदेशक एवं इसरो अध्यक्ष के वरिष्ठ सलाहकार तपन मिश्रा ने अपने विचार व्यक्त किए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned