Ahmedabad : 90 की आयु में भी दे दी कोरोना मात

स्वस्थ हुई वृद्धा को अस्पताल से दी छुट्टी

By: Omprakash Sharma

Published: 14 Jun 2020, 10:46 PM IST

अहमदाबाद. एक ओर जहां धारणा है कि अधिक आयु में कोरोना खतरनाक साबित होता है वहीं शहर की 90 वर्षीय एक वृद्धा कोरोना को मात देकर अस्पताल से घर चली गई है। दस दिन के उपचार के बाद उन्हें रविवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।
अमहदाबाद शहर के मेघाणीनगर क्षेत्र निवासी शकुंतलाबेन (90) को दस दिन पूर्व कोरोना की पुष्टि हुई थी। उपचार के लिए वृद्धा को अहमदाबाद शहर के सिविल अस्पताल कैंपस स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ किडनी डिसिज एंड रिसर्च सेंटर (आईकेडीआरसी) अर्थात किडनी अस्पताल में बनाए गए कोविड अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां उनका दस दिन तक उपचार चला। रविवार तक वे कोरोना से पूरी तरह मुक्त हो गईं और उन्हें छुट्टी दे दी गई। बुजुर्ग शकुंतलाबेन ने बताया कि अस्पताल में अच्छी सार संभाल और उपचार से उन्होंने कोरोना को हरा दिया है। अस्पताल से जाते समय वे काफी खुश हुईं।

उपचार के साथ-साथ मानसिक मजबूती जरूरी
कोरोना वाइरस का उपचार सभी जगह लगभग एक समान ही रहता है। उपचार के साथ साथ मरीज को चाहिए कि वह अपने मानसिक स्थिति को मजबूत रखे। इस संक्रमण के लगने के बाद कुछ लोग ज्यादा घबरा जाते हैं। उचित उपचार के साथ साथ यदि मरीज मानसिक रूप से मजबूत हो तो कोरोना के सामने जंग जीती जा सकती हैं। इसका जीता जागता उदाहरण आईकेडीआरसी में देखा जा सकता है,जहां 90 वर्ष की वृद्धा स्वस्थ होकर घर चली गईं। अस्पताल में लगातार चिकित्सा कर्मी यह प्रयास करते हैं कि मरीज कोरोना के कारण डरें नहीं।

विनीत मिश्रा, निदेशक आईकेडीआरसी

Corona virus
Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned