अब विदेश में 'सांसेंÓ भेज रही है भारतीय रेलवे

indian railway, medical oxygen, express train, bangladesh: ट्रेन से पहली बार मेडिकल ऑक्सीजन बांग्लादेश भेजी, १० कन्टेनरों में २०० मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की रवाना

By: Pushpendra Rajput

Updated: 25 Jul 2021, 06:41 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना की दूसरी लहर में मेडिकल ऑक्सीजन की भारी कमी को दूर करने के लिए भारतीय रेलवे ने देशभर में ट्रेन के जरिए ऑक्सीजन को पहुंचाया था। अब भारतीय रेलवे पहली बार देश के बाहर विदेश में भी ट्रेन के जरिए मेडिकल ऑक्सीजन (सांसें) भेज रही है। पहली बार ट्रेन से मेडिकल ऑक्सीजन को बांग्लादेश भेजा जा रहा है। इस ऑक्सीजन एक्सप्रेस (ट्रेन) में १० कंटेनरों में २०० मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन है।

पश्चिम रेलवे में अहमदाबाद के जनसंपर्क अधिकारी प्रदीप शर्मा के अनुसार शनिवार को दक्षिण पूर्व रेलवे के अंतर्गत चक्रधरपुर मंडल की ओर से एक ट्रेन २०० मीट्रिक टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) को लोड कर बांग्लादेश के बेनापोल की ओर रवाना की गई है।

कोरोना की दूसरी लहर में पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन गुजरात से चलाई गई थी। गुजरात से दिल्ली, आंध्र प्रदेश समेत १५ राज्यों को ट्रेनों के जरिए ऑक्सीजन भेजी गई। जिसके लिए ४८० ऑक्सीजन ट्रेनें दौड़ाई गई थीं। मौजूदा समय में भी देशभर में ऑक्सीजन एक्सप्रेस से ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है।

अब तक ४८० ऑक्सीजन चलाई गईं
भारतीय रेलवे ने २४ अप्रैल को पहली बार मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले राज्यों के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस शुरू की गई थी। अब तक ३५००० मीट्रिक टन से अधिक मेडिकल ऑक्सीजन १५ राज्यों में पहुंचाई जा चुकी है। इसके लिए करीब ४८० ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाई गई। पहली ऑक्सीजन ट्रेन राजकोट मंडल के हापा से कालम्बोली (महाराष्ट्र) के लिए रवाना की गई थी।

गुजरात से पहली बार बांग्लादेश भेजा गया था प्याज
इससे पूर्व गुजरात के भावनगर मंडल के धोराजी से बांग्लादेश के लिए प्याज लेकर पार्सल ट्रेन गई थी। यह पहला मौका था जब गुजरात से पार्सल ट्रेन बांग्लादेश गई। बाद में बांग्लादेश के लिए बेनापोल स्टेशन के लिए बीस रैक रवाना किए गए थे, जिसमें डेनिम और रंगाई की सामग्री थी।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned