Railway: रेलवे टिकट कालाबाजारी को लेकर एजेन्ट के नए पैंतरे का पर्दाफाश

Indian railway, ticket agents, ticket racket busted, trains : चलती ट्रेनों में यात्रियों की जांच कर जुर्माना तीन लाख का जुर्माना

By: Pushpendra Rajput

Published: 22 Aug 2020, 10:18 PM IST

गांधीनगर. रेलवे टिकटों (Railway tickets) की कालाबाजारी (ticket black) को लेकर एजेन्ट कोई न कोई पैंतरा आजामाते रहते है। रेलवे अधिकारियों ने ऐसे ही एजेन्ट के नए पैंतरे का पर्दाफाश किया है। सूरत और इसके आसपास ट्रेनों में यात्रियों (railway passengers) की रेलवे टिकटों (Railway tickets) की जांच में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है।
ये एजेन्ट तत्काल टिकट निकालकर उसका विवरण ई-टिकट में भरकर दूरदराज इलाके तक व्हाट्स एप के जरिए यात्रियों को भेज देते थे। मौजूदा समय में कोरोना संक्रमण (Corona alert) के चलते लम्बी की दूरी की ट्रेनों में टिकटों की चेकिंग कम ही होती है। एजेन्ट इसका फायदा उठा रहे थे और उन टिकटों का एजेन्ट यात्रियों से ज्यादा रुपए वसूलते थे।

सूत्रों के अनुसार एजेन्ट रेलवे स्टेशन के काउंटर से तत्काल कोटा कन्फर्म टिकट ले लेते और बाद में उसका विवरण ई-टिकट के फार्मेट में भरकर उसे दूरदराज इलाकों तक यात्रियों को भेज देते थे। आमतौर पर काउंटर टिकट सफर के दौरान यात्रियों को अपने पास रखना होता है। पिछले एक सप्ताह में रेलवे अधिकारियों ने मुजफ्फरपुर एवं गोरखपुर से आने वाले ट्रेनों की जांच शुरू की, जिसमें फर्जी ई- टिकट पर सफर करते 150 से ज्यादा यात्रियों को पकड़ा गया। इन यात्रियों से तीन लाख रुपए का जुर्माना वसूला गया। हालांकि रेलवे सुरक्षा बल (RPF) एवं विजिलेंस की टीमें यात्री टिकटों का जांच अभियान चलाती हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते स्पेशल ट्रेनों का संचालन हो रहा है। ऐसे में एजेन्टों ने कमाई का नया पैंतरा आजमाया। एजेन्ट के नए पैंतरे के बारे में वाणिज्य विभाग के सहायक वाणिज्य प्रबंधक अतुल त्रिपाठी से पूछने पर उन्होंने ऐसे किस्से होने की बात स्वीकार की है, लेकिन उन्होंने इस संबंध में कोई जानकारी देने से इनकार कर दिया।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned