indian railway : गुजरात से पहली बार ट्रेन से बंगलादेश भेजा प्याज

indian railway, train, onion, bangladesh, Rajkot, railway station

By: Pushpendra Rajput

Published: 06 Aug 2020, 10:45 PM IST

अहमदाबाद. गुजरात (Gujarat) के राजकोट जिले (rajkot) में धोराजी स्थित रेलवे स्टेशन (railway station) से ट्रेन के मार्फत पहली बार पड़ोसी बंगालदेश को प्याज (onion) भेजा गया। इससे इस जिले के धोराजी, उपलेट व गोंडल इलाकों के प्याज के किसानों (farmers) व व्यापारियों (businessmen) को काफी लाभ मिलेगा। पश्चिम रेलवे (western railway) के तहत भावनगर रेल मंडल की ओर से प्याज पड़ोसी देश भेजे जाने की व्यवस्था की गई।

मंडल के बिजनेस डवलपमेंट यूनिट के लगातार राजकोट जिले के धोराजी, उपलेटा व गोंडल क्षेत्र के कृषि उत्पादन बाजार समिति (एपीएमसी) और व्यापारियों के साथ बातचीत के चलते ऐसा संभव हो सका।
राजकोट जिले के धोराजी से बंगलादेश के दर्शना रेलवे स्टेशन की दूरी करीब करीब ढाई हजार किलोमीटर है।। इस स्टेशन को काफी कम समय में लोडिंग के लिए उपयुक्त बनाया गया।

रेल मंत्री पियूष गोयल ने ट्वीट कर यह बताया कि पहली बार धोराजी से ट्रेन के मार्फत प्याज बंगला देश भेजा जा रहा है। कृषि उत्पादों के निर्यात से यहां के किसान आर्थिक रूप से समृद्ध होंगे।
गोंडल एपीएमसी से जुड़े एक व्यापारी चिंतन मनसुखलाल गोकलदास का कहना है कि प्याज निर्यात होने से किसानों को लाभ मिलेगा। इससे किसानों के माल की भी खपत होगी और उन्हें दाम भी मिल सकेंगे। इससे पहले महाराष्ट्र के कई स्टेशनों से बंगलादेश को प्याज भेजा जा चुका है। भुसावल डिवीजन के लसलगांव से प्याज के लिए पहली रैक गत मई महीने में रवाना की गई थी। इसके बाद दूसरी और तीसरी रैक भी वहां भेजी गई। मई की शुरुआत से जुलाई के मध्य तक करीब एक लाख टन प्याज 55 टे्रनों के मार्फत बंगलादेश भेजी गई। बंगलादेश प्याज का बड़़ा बाजार माना जाता है

भावनगर को नया ट्रैफिक मिला

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया कि भावनगर डिवीजन की बिजऩेस डवलपमेंट यूनिट ने यह पहली अनूठी कामयाबी हासिल है जब धोराजी, उपलेटा और गोंडल की एपीएमसी और प्याज व्यापारियों के साथ चर्चा की थी। धोराजी से दर्शना की दूरी 2437 किलोमीटर है। धोराजी स्टेशन को परिचालन, वाणिज्यिक और इंजीनियरिंग पर्यवेक्षकों की टीम ने काफी कम समय में प्याज के लदान की तैयारी की।धोराजी स्टेशन कम से कम समय में लोडिंग के लिए खोल दिया गया। भावनगर डिवीजन के लिए यह एक नया ट्रैफिक है, जिससे लगभग 46 लाख रुपये की कमाई होगी। इस माह करीब 3-4 रेक लदान होने की सम्भावना है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned