Ahmedabad :कोरोना मरीजों के लिए इन्फेक्शन कंट्रोल इन्जीनियर समान है पर्पल ब्रिगेड टीम

अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में...
1200 बेड़ अस्पताल में ब्रिगेड के 21 सदस्य उत्साह से कर रहे हैं कार्य

 

By: Omprakash Sharma

Updated: 27 Jul 2020, 08:56 AM IST

अहमदाबाद. शहर के सिविल अस्पताल परिसर में कोविड उपचार के लिए समर्पित 1200 अस्पताल में कार्यरत पर्पल ब्रिगेड टीम कोरोना के मरीजों के लिए इन्फेक्शन कंट्रोल इन्जीनियर की तरह साबित हो रही है। 21 सदस्यों वाली यह टीम अस्पताल में 24 घंटे तीन पारियों में कार्यरत रहती है। जिसमें सभी नर्सें हैं। पर्पल (बैंगनी) रंग के कपड़ों में दिखने वाली इस टीम का गठन खासकर कोरोना के इन्फेक्शन को नियंत्रण में करने के लिए किया गया है।
कोरोना का संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैलता है। कोरोना व अन्य संक्रमण को रोकने के लिए अस्पताल में 21 नर्सों से यह ब्रिगेड बनाी है। जिसका मुख्य कार्य संक्रमण निवारण है। 1200 बेड अस्पताल के रेजिडेंट मेडिकल अफिसर डॉ. संजय कपाडिय़ा के अनुसार अस्पताल में नियुक्त की गई यह टीम कोरोना मरीज के भर्ती होने से लेकर ठीक होने तक ध्यान रखती है। खासर उनमें किसी तरह के संक्रमण को रोकने के लिए टीम चौकन्नी रहती है। इसके लिए समय समय पर भोजन की देखरेख, सफाई आदि पर ध्यान दिया जाता है।
सिविल अस्पताल के नर्सिंग अधीक्षक बीके प्रजापति ने कहा कि पिछले चार महीनों से,पर्पल ब्रिगेड की टीम मेें शामिल सभी सदस्य कड़ा परिश्रम करकर रहे हैं। सामान्य वार्ड और आईसीयू में भी विशेष तौर पर नजर बनाए हुए हैं। अस्पताल की माइक्रोबाइलोजी विभाग की डॉ, सुमिता सोनी कहती के अनुसार कोरोना को फैलने से रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। मरीज के उपयोगा में आने वाली वस्तुओं को कीटाणु मुक्त करने व अन्य सफाई पर भी ध्यान दिया जा रहा है। उनके अनुसार खानपान पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। सभी वार्डों में अलग अलग डस्टबिन रखे गए है। उत्पन्न होने वाले कचरे का निराकरण भी सावधानी से किया जा रहा है।
साथ ही पलंग पर चादर को नियमित बदलने की व्यवस्था पर भी जोर दिया जाता है। जिस तरह से ये नर्सें मिलजुकर काम कर रहीं हैं उससे लगता है कि वे इन्फेक्शन कन्टोल इन्जीनियर हैं।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned