International Migrants Day: देश में करीब डेढ़ करोड़ सिंधी समुदाय के लोग, देश भर में 50 सरदार नगर

International Migrants Day, Sindhi Community, Sardarnagar, Gujarat,

By: Uday Kumar Patel

Updated: 18 Dec 2020, 11:23 PM IST

अहमदाबाद. पाकिस्तान से आए कई सिंधी समुदाय के परिवारों को अहमदाबाद के सरदारनगर-कुबेरनगर बसाया गया। इनके पुनर्वास में सरदार पटेल की बड़ी भूमिका थी। उनके मित्र लालाभाई भी इसी काम में दिन-रात लगे रहे। सरदार पटेल ने सिंधी समुदाय के कई लोगों को छोटे-छोटे व्यापार बताकर उन्हें आत्मनिर्भरता के लिए प्रेरित किया।

कच्छ जिले के आदिपुर, गांधीधाम में भी बड़ी संख्या में सिंधी समुदाय के लोग पश्चिम पाकिस्तान से यहां आए। सरदार पटेल ने तत्कालीन विजयराज खेंगारजी बहादुर से 15 हजार एकड़ जमीन लेकर सिंधु रिसेटलमेंट कॉरपोरेशन का गठन किया। यहां पर हजारों सिंधी परिवार बसे।

भारतीय सिंधु सभा के अहमदाबाद जिला अध्यक्ष डॉ अनिल खत्री के मुताबिक सरदार पटेल की अध्यक्षता में दिल्ली एमरजेंसी कमिटी का गठन किया गया और सभी जाति के लोगों को न्यायपूर्वक पुनर्वास करने का अवसर दिया था। सिंधी समाज के लिए भी वहां पर एक सरदारनगर इलाका स्थापित किया गया।

मुंबई के निकट ठाणे जिले में कल्याण मिलिट्री ट्रांजिट कैम्प थे जिसमें दूसरे विश्व युद्ध के वक्त लोग रहा करते थे। खाली पड़े इस कैम्प में इन सिंधी लोगों को बसाया गया। इसे उल्हासनगर नाम दिया गया। भारत के इंदौर, हैदराबाद सहित कई अन्य शहरों में भी रिफ्यूजी कैम्प स्थापित कर सरदार पटेल ने सिंधी समाज के लिए अमूल्य योगदान दिया था।

फिलहाल भारत में सिंधी समुदाय की आबादी करीब डेढ़ करोड़ है। आज ये लोग भारत के सभी शहरों में बसते हैं और अपनी सोसाइटी का नाम सरदार नगर जरूर रखते हैं। एक अंदाज के मुताबिक देश भर में ऐसे 50 सरदारनगर हैं।

ड़ॉ अनिल खत्री, अहमदाबाद जिला अध्यक्ष, भारतीय सिंधु सभा

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned