कोरोना के चलते सादगी से मनाई जलाराम जयंती

मास्क पहने पर ही दर्शनाथियों को दिया प्रवेश

By: Omprakash Sharma

Published: 21 Nov 2020, 10:50 PM IST

आणंद. कोरोना के प्रकोप के बीच शनिवार को जलाराम जयंती सादगी पूर्ण मनाई गई। मंदिरों में मास्क पहनने पर ही श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया गया। कोरोना गाइडलाइन के अनुरूप अन्य व्यवस्था भी की गई।
आणंद शहर में स्थित जलाराम मंदिर में जलाराम बापा की जयंती मनाई गई। शनिवार सुबह मंदिर में आरती के बाद दोपहर की आरती की गई। जिसमें बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर के कोठारी भगतचरण स्वामी और संतो की उपस्थिति में महाआरती की गई। उस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु भी दर्शन के लिए पहुंचे। पेटलाद शहर के धर्मज गांव में जिले का सबसे बड़ा जलाराम मंदिर है। इस गांव में जलाराम जयंती के उपलक्ष्य में हर वर्ष पांच दिन पहले से ही विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। लेकिन इस बार कोरोना के चलते कई कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। हालांकि मंदिर को रोशनी से सजाया गया है। इस मंदिर में सुबह आरती के बाद महापूजा समेत विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। सरकार की गाइडलाइन का ध्यान रखते हुए दर्शनार्थियों की भीड़ नहीं हो ऐसी भी व्यवस्था की गई। इसके अलावा मंदिर में उन्हीं श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया गया जो मास्क पहने हुए थे। इसके अलावा उमरेठ तहसील के बांधीपुरा गांव स्थित जलाराम मंदिर में भी जयंती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित किए गए। सोजित्रा तहसील के डभोऊ और तारापुरा गांव स्थित मंदिरों में भी विशेष कार्यक्रमों का सादगी से आयोजन किया गया।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned