चाय एवं पान की दुकानों को बंद करने की अधिसूचना पर पुनर्विचार करने की मांग

जामनगर टी - स्टॉल एसोसिएशन ने सीएम रुपाणी को लिखा पत्र

 

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 20 Jul 2020, 06:36 PM IST

जामनगर. शहर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से जिला कलक्टर ने अधिसूचना जारी कर शहर में चाय के स्टॉल और पान की दुकानों को बंद रखने का आदेश जारी किया है। इस संबंध में जामनगर टी - स्टॉल एसोसिएशन की ओर से मुख्यमंत्री विजय रुपाणी को पत्र लिखकर के मांग की गई है कि इस अधिसूचना पर पुनर्विचार किया जाए।


इसके अलावा जामनगर टी स्टॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष आलाभाई रबारी ने मनपा आयुक्त को पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए सावधानी के तौर पर जामनगर शहर और ध्रोल शहर के चाय स्टॉल, ठेले एवं पान की दुकानों को आगामी 26 जुलाई तक बंद रखने का आदेश जारी किया गया है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए जो भी कदम प्रशासन की ओर से उठाए जा रहे हैं, उनका पूरी तरह से समर्थन किया जा रहा है। लेकिन इसके लिए मात्र चाय की दुकानों व पान की दुकानों को ही जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है। कोरोना संक्रमण के बढऩे के और भी कारण हो सकते हैं। जामनगर टी -स्टॉल एसोसिएशन हर तरह से सहयोग करने को तैयार है।

सूरत ,राजकोट और अहमदाबाद में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। लेकिन इन शहरों में प्रशासन की ओर से चाय की दुकानों पर पूरी तरह से प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। उन्होंने कहा कि ग्राहकों को चाय पैक करके देने की अनुमति दी जानी चाहिए। चाय के दुकानदार इसी से अपने परिवार का गुजारा चला रहे हैं। ऐसे में यदि इन्हें पूर्ण रूप से बंद करा दिया जाएगा तो दुकानदारों को अपने परिवार का गुजारा चलाना मुश्किल हो जाएगा।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned