जामनगर. कोरोन वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर जामनगर शहर व जिले में रविवार को जनता कफ्र्यू को लोगों ने अपना समर्थन दिया। लोगों ने स्वैच्छा से बंद रखा, इस दौरान रास्ते सूनसान रहे।
जामनगर शहर में रविवार सवेरे से ही जनता कफ्र्यू का असर दिखाई देने लगा। शहर के बाजारों में दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान पूर्णतय बंद रहे। लोग भी अपने-अपने मकानों से बाहर नहीं निकले, इस कारण रास्ते सूनसान रहे। जिले में भी लोगों ने मकानों में रहकर जनता कफ्र्यू को अपना समर्थन दिया। जिलेभर में सडक़ें सूनी रही। हालांकि पुलिस की टीमें गश्त लगाती रहीं और स्वास्थ्य व आवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारी अपनी-अपनी ड्यूटी पर रहे।

जामनगर में एसटी बसों के एक हजार से अधिक ट्रिप स्थगित
जामनगर. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए रविवार को जनता कफ्र्यू के चलते जामनगर एसटी विभाग की बसों के 1089 ट्रिप स्थगित रहे।
सूत्रों के अनुसार जनता कफ्र्यू के चलते रविवार को जामनगर एसटी विभाग की ओर से बसों के 1089 ट्रिप स्थगित करने के कारण 1,21,500 किलोमीटर की दूरी तय करने वाली बसों के पहिए थमे रहे। जामनगर एसटी विभाग को प्रतिदिन होने वाली करीब 30 लाख रुपए की आय पर व्यापक असर पड़ा।
इनके अलावा लंबी दूरी की यानी सूरत, वडोदरा आदि शहरों के लिए एसटी की 89 बसें बंद रही। विद्यार्थियों के लिए संचालित एसटी बसों के 24 ट्रिप भी बंद रहे। एसटी के एक अधिकारी के अनुसार कोरोना वायरस से संक्रमण के खतरे के चलते अग्रिम आरक्षण पर भी असर पड़ा है। पूर्व में अग्रिम आरक्षण करवाने वाले यात्रियों को 100 प्रतिशत राशि पुन: लौटाई जाएगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned