चुनाव प्रचार थमा, कांग्रेस-भाजपा ने अंतिम दिन झोंकी ताकत

जसदण की जंग

By: Pushpendra Rajput

Published: 18 Dec 2018, 09:31 PM IST

अहमदाबाद. जसदण विधानसभा उपचुनाव कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए ही प्रतिष्ठा प्रश्न बना हुआ है। चुनाव के अंतिम दिन दोनों ही दलों ने ताकत झोंकी। जसदण कांग्रेस और भाजपा के बैनरों और झंडे से पट गया। कांग्रेस और भाजपा ने जसदण-विंछिया में महारैली निकाली और आमसभा कर मतदाताओं को रिझाने का प्रयास किया। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही राजनीतिक दलों ने चुनाव जीतने को एडीचोटी का जोर लगाया। जहां कांग्रेस ने अपने तीन दर्जन से ज्यादा विधायकों और वरिष्ठ नेताओं को उतारा। वहीं भाजपा सरकार के मंत्री और वरिष्ठ नेताओं ने मतदाताओं को रिझाया।
जसदण-विंछिया विधानसभा उपचुनाव का मंगलवार शाम पांच बजे चुनाव प्रचार थम गया। सुबह भाजपा और कांग्रेस ने बाइक और कार रैली निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। विंछिया से दो किलोमीटर दूर पीपरडी गांव से सुबह आठ बजे भाजपा ने बाइक रैली निकाली, जो लीलापुर, जसदण, आटकोट होते साणथली में पूर्ण हुई। रैली में शामिल बाइक सवार केसरिया झंडे लहराते हुए निकले। वहीं बाइक रैली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भीखूभाई दलसाणिया, जीतू वाघाणी, राज्य सरकार में मंत्री और विधायक शामिल थे।
उधर, कांग्रेस ने भी सुबह 11 बजे विंछिया से बाइक रैली निकाली। यह रैली भी उसी मार्ग से होकर निकली गई, जिसमें कांग्रेसी कार्यकर्ता कांग्रेसी झंडा लहराते हुए दिखे। यह रैली विंछिया से कमलापुर, भाडला होते हुए जसदण के आटकोट रोड पर सभा तब्दील हो गई। दोपहर दो बजे जसदण के आनंद मेला के निकट मैदान में आयोजित सभा में पंजाब के मंत्री नवजोतसिंह सिद्धू अपने अलग-अलग अंदाज में मतदाताओं को रिझाने का प्रयास किया। राज्यसभा सांसद अहमद पटेल, गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी, शक्तिसिंह गोहिल समेत कई नेताओं ने रैली को संबोधित किया।
उधर, 20 दिसम्बर को होने वाले जसदण के उपचुनाव को लेकर चुनाव आयोग ने भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। अद्र्धसैनिक बलों की छह कम्पनियां उतारी गई हैं। वहीं होम गार्ड, पुलिस की भी अलग-अलग टीमें लगाई गई हैं। जसदण के 262 बूथों पर मतदान होगा।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned