अमूल मॉडल के सहयोग से सहकारी गतिविधि विकसित करेगा केन्या

अमूल मॉडल के सहयोग से सहकारी गतिविधि विकसित करेगा केन्या

Uday Kumar Patel | Publish: Sep, 07 2018 10:58:22 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

-आठवीं एग्री एशिया एक्जीबिशन सेमिनार

 

गांधीनगर. भारत में केन्या के राजदूत वीली बेट ने कहा कि गुजरात व केन्या के पारस्परिक संबंध वर्षों पुराने हैं। गुजरातियों ने केन्या व अफ्रीका के देशों में व्यापारी प्रजा के रूप में पहचान बनाई है।
महात्मा मंदिर में शुक्रवार को आठवीं एग्री एशिया एक्जीबिशन सेमिनार मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की उपस्थिति में उन्होंने कहा कि केन्या के राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक विकास एजेन्डा तैयार किया है। इसके तहत दोनों देशों सहयोग के लिए प्रयासरत हैं। सहकारी गतिविधि का गुजरात का अमूल मॉडल विश्वभर में प्रसिद्ध है। केन्या इस मॉडल के सहयोग से केन्या में सहकारी प्रवृत्तियों का विकास करेंगे।
उन्होंने प्रदर्शनी को निहारने के बाद कहा कि इस प्रदर्शनी से सिर्फ एशिया के देश ही नहीं बल्कि अफ्रीकी देशों को भी लाभ होगा।
इस अवसर पर केन्द्रीय परिवहन, हाईवे व जहाजरानी राज्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि देशभर के छह लाख गांव का विकास कृषि पर आधारित है। केन्द्र सरकार के अधीन बंदरगाहों पर विशेष जेट्टी बनाकर फल-सब्जियों व कृषि उत्पाद को विश्वभर के बाजार में भेजे जाने की व्यवस्था की जा रही है। देशभर में 84 मेगा फुड पार्क हैं जहां प्रोसेसिंग से मूल्य वद्र्धन किया जा रहा है।

सीएम से मिले पूर्व यूएन महासचिव

गांधीनगर. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शुक्रवार को गांधीनगर में संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के पूर्व महासचिव बान की मून और नॉर्वे की पूर्व प्रधानमंत्री ग्रो हार्लेम ब्रुन्टलैण्ड से मुलाकात की। ये दोनों फिलहाल अफ्रीका के दिवंगत राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला की ओर से 11 वर्ष पूर्व स्थापित द एल्डर्स ग्रुप से जुड़े हैं।
मून व ब्रुन्टलैण्ड गुजरात में स्वास्थ्य सेवा व इस क्षेत्र में राज्य सरकार की योजनाओं के अमलीकरण की गतिविधियों को जानने यहां आए। दोनों ने गांधीनगर जिले के उनावा के हेल्थ व वेलनेस सेन्टर का दौरा भी किया।

भगवती शर्मा को सीएम की श्रद्धांजलि
गांधीनगर. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मूर्धन्य साहित्यकार व वरिष्ठ पत्रकार भगवती कुमार शर्मा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। शोक संदेश में उन्होंने कहा कि शर्मा के निधन से साहित्य जगत व पत्रकारिता क्षेत्र की अपूरणीय क्षति हुई है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned